12 बड़ी घोषणाएं | सरकार ने ‘आत्मनिर्भर भारत 3.0’ का किया एलान

369

केंद्र सरकार द्वारा की गई 12 घोषणाएं कौन सी हैं और इसका आपको क्या फायदा मिलेगा। 

कोरोना महामारी और लॉकडाउन के चलते अर्थव्यवस्था पर पड़े प्रभाव को देखते हुए केंद्र सरकार ने गुरुवार को ‘आत्मनिर्भर भारत 3.0’ पैकेज का एलान किया।

इस राहत पैकेज के तहत केंद्र सरकार ने 2,65,080 करोड़ रुपये की 12 घोषणाएं की हैं।  आइए जानते हैं कि केंद्र सरकार द्वारा की गई 12 घोषणाएं कौन सी हैं और इसका आपको क्या फायदा मिलेगा।

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना का एलान किया। इससे ज्यादा से ज्यादा कर्मचारी ईपीएफओ से जुड़ेंगे और पीएफ का फायदा उठा पाएंगे।

इससे संगठित क्षेत्र में रोजगार को बल मिलेगा।

जिन लोगों के पास अगस्त से सितंबर तक नौकरी नहीं थी लेकिन बाद में पीएफ से जुड़े हैं उन्हें भी इस योजना का लाभ मिलेगा। यह योजना 30 जून 2021 तक लागू रहेगी।

ऐसे कर्मचारी जो पहले पीएफ के लिए पंजीकृत नहीं थे और जिनकी सैलरी 15 हजार से कम है उन्हें इस योजना का लाभ मिलेगा। इसके लिए कंपनी का ईपीएफओ से पंजीकृत होना जरूरी है।

निर्माण और बुनियादी ढांचा क्षेत्र को राहत

सरकार ने बताया है कि निर्माण और बुनियादी ढांचा सेक्टर की कंपनियों को अब कॉन्ट्रैक्ट के लिए परफॉर्मेंस सिक्योरिटी के तौर पर पांच से 10 प्रतिशत के स्थान पर केवल तीन प्रतिशत की रकम रखनी होगी। यह राहत 31 दिसंबर, 2021 तक जारी रहेगी।

घर खरीददारों को आयकर में मिलेगी राहत

वित्त मंत्रीने दो करोड़ रुपये तक की आवासीय इकाइयों को पहली बार बेचने पर सर्कल रेट और समझौता मूल्य के बीच अंतर को दोगुना तक करने का एलान किया है।

वित्त मंत्रीने डेवलपर्स और घर खरीदने वाले लोगों को आयकर में राहत प्रदान की है। सर्कल रेट और एग्रीमेंट वैल्यू में अंतर को 10 फीसदी से बढ़ाकर 20 फीसदी करने का फैसला किया गया है।

उर्वरक पर 65 हजार करोड़ रुपये की व्यवस्था

सरकार ने किसानों को उर्वरक सब्सिडी देने के लिए 65 हजार करोड़ रुपये की व्यवस्था की है। इससे देश के 14 करोड़ किसानों को सीधे तौर पर लाभ मिलेगा। आने वाले फसल के सीजन में किसानों को इसका फायदा मिलेगा।