राज मल्होत्रा के नाम से फेसबुक चला रहा था अंसार, फोटो शेयर कर दिखाता था अपनी लग्जरी लाइफ

72
Ansar was running Facebook in the name of Raj Malhotra, used to show his luxury life by sharing photos

जहांगीरपुरी में हनुमान जन्मोत्सव की शोभायात्रा पर हुए पथराव के आरोपी अंसार खान के जांच के दौरान कई राज सामने आ रहे हैं। जांच में पता चला है कि अंसार ने हिंदू नाम राज मल्होत्रा से फेसबुक आइडी भी बना रखी है।

इस आइडी में अंसार ने कई फोटो डाले हैं। कई तस्वीरों में वह सोने की मोटी चेन भी पहने नजर आ रहा है। यह भी बात मालूम चली है कि कबाड़ का काम करने वाले अंसार का पांच मंजिला मकान है और हर फ्लोर पर एसी लगा हुआ है।

1980 में पैदा हुआ अंसार कबाड़ी का काम करता है। पुलिस के मुताबिक अपराध से इसका पुराना नाता है। वो जेल की हवा भी खा चुका है। जहांगीरपुरी पुलिस की फाइल में दो बार इसके नाम दर्ज हुए हैं।

फरवरी 2019 में अंसार को चाकू के साथ गिरफ्तार किया गया था। तब इसके खिलाफ आर्म्स एक्ट की धारा लगाई गई थी।

Journalist Of India

दूसरा मामला जुलाई 2018 का है। जब सरकारी कर्मचारी पर हमला करने और सरकारी काम में बाधा डालने के आरोप लगे और मुकदमा दर्ज हुआ था। वह महज चौथी क्लास तक ही पढ़ा है। कोर्ट जाते वक्त अंसार ने पुष्पा का सिग्नेचर मूव भी करके दिखाया था।

फ़िलहाल पुलिस पता लगा रही है कि यह फेसबुक प्रोफाइल अंसार ही चला रहा था या कोई और। यदि अंसार ही फेसबुक प्रोफाइल चला रहा था तो उसने हिंदू नाम क्यों रखा? अंसार से पूछताछ में पता चला है कि उसे यह डर था कि अगर जहांगीरपुरी में एक समुदाय की ज्यादा चलने लग गई तो उसे दिल्ली छोड़ना पड़ेगा।

वहीं दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच की टीम जांच की कड़ी में हिंसा के आरोपितों अंसार को बांग्लादेशी कनेक्शन खंगालने में जुटी हुई है। इसी कड़ी में क्राइम ब्रांच की तीन अलग-अलग टीमें बंगाल पहुंची हैं और उसके बारें में जानकारी जुटा रही हैं।

जांच की कड़ी में दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच की एक टीम अंसार की नानी के घर पहुंचकर उसके नेटवर्क को खंगाल रही है तो दूसरी टीम पूर्वी मिदनापुर जिले के महिषादल इलाके में पहुंची है। बताया जा रहा  है कि आरोपित अंसार का बचपन यही पर बीता है।

वहीं तीसरी टीम गोली चलाने के आरोपित सोनू उर्फ यूनुस के ठिकाने नादिया पहुंची है और उसकी जानकारी जुटाई। पुलिस आरोपित अंसार, सोनू उर्फ यूनुस और एक नाबालिग की पूरी कुंडली खंगालने में जुटी है और यह जानने की कोशिश कर रही है कि इनका बांग्लादेश से कोई कनेक्शन तो नहीं है।