आशा कार्यकर्ता देगी ‘रबर पेनिस’ का डेमो, महाराष्ट्र सरकार की परिवार नियोजन योजना का विरोध बढा

169
Asha workers will demo of 'Rubber Penis', increase opposition to Maharashtra government's family planning scheme

महाराष्ट्र में परिवार नियोजन कार्यक्रम के तहत राज्य की उद्धव ठाकरे सरकार ने रबर डिल्डो को परिवार नियोजन किट के साथ शामिल करने का फैसला किया है।

राज्य सरकार के इस ‘रबर पेनिस’ को देने के फैसले का आशा कार्यकर्ताओं ने विरोध शुरू कर दिया है। दरअसल, आशा कार्यकर्ता हैरान हैं कि गांवों में सेक्स सिमुलेशन उपकरण की व्याख्या कैसे की जाए।

यह कदम राज्य सरकार के स्वास्थ्य विभाग के परिवार नियोजन कार्यक्रम के बारे में जागरूकता फैलाने के उपायों के तहत उठाया गया है।

बताया गया है कि जब परिवार नियोजन किट में आशा वर्कर्स को डिल्डो दिया गया तो वह देखकर दंग रह गईं। विभाग के अधिकारियों ने आशा कार्यकर्ताओं से किट का डेमो देने को कहा है। हालांकि राज्य सरकार की ओर से डिल्डो को लेकर कोई आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है।

पूरे राज्य में आशा कार्यकर्ता परिवार नियोजन किट में डिल्डो को शामिल करने का विरोध कर रही हैं। कुछ को इसके बारे में पता भी नहीं है। ऐसे में गांवों में इसका डेमो देना उनके लिए चुनौती का विषय बन गया है।

खुले में परिवार नियोजन पर बहस पहले से ही विवाद का विषय है, यौन अनुकरण उपकरणों पर सरकार के जोर के साथ संवेदनशील हो रहा है।

राज्य में महिला अधिकारों के लिए काम करनेवाली एक कार्यकर्ता तबस्सुम हुसैन ने इस कदम की कड़ी निंदा की और इसे शर्मनाक और शर्मनाक करार दिया।

आशा कार्यकर्ता भारत के राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन के रूप में स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा स्थापित मान्यता प्राप्त सामाजिक स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के एक समुदाय का हिस्सा हैं।

नेटिज़न्स मज़ा कर रहे हैं

उद्धव सरकार द्वारा डिल्डो को परिवार कल्याण किट में शामिल किए जाने की खबर सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद लोग तरह-तरह की प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं।

किसी ने इसका मजाक उड़ाया तो किसी ने इसे क्रांतिकारी कदम बताया। वहीं कुछ लोग ऐसे भी हैं जो आशा कार्यकर्ताओं के प्रति सहानुभूति का भाव दिखा रहे हैं।

कुछ नेटिज़न्स को स्वरा भास्कर की फिल्म ‘वीरे दी वेडिंग’ में विवादित ‘वाइब्रेटर’ की याद दिलाई गई। इस बहाने सिल्वर स्क्रीन पर डिल्डो की पैरवी करने पर लोगों ने स्वरा भास्कर पर तंज कसा।

जहां इस साहसिक कदम ने इंटरनेट उपयोगकर्ताओं को मोशन पिक्चर्स में डिल्डो का उपयोग करने वाली अभिनेत्रियों की याद दिला दी, वहीं वास्तविक जीवन की आशा कार्यकर्ताओं को जनसंख्या नियंत्रण उपाय के रूप में डिल्डो के बारे में जागरूकता फैलाने में एक बड़ी चुनौती का सामना करना पड़ रहा है।