देश में तीसरी लहर की ‘शुरुआत’, महानगरों में शुरू हुआ ओमाइक्रोन का कहर, जानें खास बातें

557
The 'beginning' of the third wave in the country, the havoc of Omicron started in the metros, know the special things

नई दिल्ली : देश में एक बार फिर कोरोना के मामले बहुत तेजी से बढ़ते जा रहे हैंमाना जा रहा है कि महामारी के नए मामलों की इतनी तेजी से बढ़ती संख्या के लिए ओमाइक्रोन वैरिएंट जिम्मेदार है। 

Circuit-breaker lockdown on cards as Omicron wreaks havoc in UK: Reports |  World News

देश की राजधानी में आज 3194 नए मामले सामने आए हैं, जो 20 मई के बाद सबसे ज्यादा हैं। वहीं, मुंबई में 8 हजार से ज्यादा मामले दर्ज किए गए हैं।

महानगरों में अचानक से बढ़ रहे मामलों के बीच कुछ राज्यों और विशेषज्ञों का अनुमान है कि देश में कोरोना की तीसरी लहर शुरू हो गई है।

इस बीच देश में कई जगहों पर कोरोना से जुड़ी पाबंदियां शुरू कर दी गई हैं. इसके अलावा अमेरिकी फार्मा कंपनी की एंटीवायरल दवा मोलनुपिरवीर को देश में मंजूरी मिल गई है।

दिल्ली और मुंबई

दिल्ली और मुंबई में पाए गए अधिकांश मामले स्पर्शोन्मुख हैं, यह दर्शाता है कि नई लहर ओमाइक्रोन से जुड़ी हो सकती है। बीएमसी के आंकड़ों के मुताबिक, मुंबई में 89 फीसदी मामले बिना लक्षण वाले हैं।

The 'beginning' of the third wave in the country, the havoc of Omicron started in the metros, know the special things

देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना के मामलों में जबरदस्त उछाल आया है. सरकार की ओर से लोगों से अपील की गई है कि वे कोरोना से जुड़े प्रोटोकॉल का पालन करें और टीकाकरण कराएं.

क्या कहा कर्नाटक सरकार ने?

वहीं कर्नाटक सरकार ने कहा है कि अब यह साफ हो गया है कि तीसरी लहर से बचा नहीं जा सकता है। सरकार ने कहा है कि हम जल्द ही पाबंदियां लगाएंगे। राज्य सरकार ने लोगों से सहयोग करने को कहा है, नहीं तो लॉकडाउन लगाने की जरूरत पड़ेगी।

कर्नाटक में रविवार को 1187 मामले सामने आए हैं। वर्तमान में राज्य में सक्रिय मामलों की संख्या 10 हजार से अधिक हो गई है। अकेले बेंगलुरु में 8600 से ज्यादा एक्टिव केस हैं।

पश्चिम बंगाल में स्थिति

वहीं, पश्चिम बंगाल में टेस्ट पॉजिटिविटी रेट 33 फीसदी पर पहुंच गया है। राज्य सरकार ने कोरोना से बचाव के लिए कदम उठाने शुरू कर दिए हैं।

वायरोलॉजिस्ट ने क्या कहा

वायरोलॉजिस्ट शाहिद जमील ने कहा है कि भारत कोरोना की अगली लहर की शुरुआती स्थिति में है। टेस्ट पॉजिटिविटी रेट और नए मामलों की संख्या बढ़ रही है, खासकर शहरी इलाकों में।