Big News : मध्य प्रदेश में मुस्लिमों की प्रताड़ना से तंग आकर पलायन को मजबूर हिन्दू

322
Hindus forced to flee after being fed up with the harassment of Muslims: Board of 'House Selling' imposed, allegation - cases are being registered against Hindus only

रतलाम के सुराणा गांव में धार्मिक सौहार्द बिगड़ने पर हिंदू परिवारों ने गांव छोड़ने की धमकी दी है। ज्ञापन देने पहुंचे ग्रामीणों का आरोप है कि एक वर्ग विशेष के लोगों की अधिक आबादी होने के कारण आए दिन विवाद होता रहता है।

पुलिस व प्रशासन भी नहीं सुन रहा है। ऐसे में गांव से पलायन करने के अलावा कोई चारा नहीं है। इन लोगों ने मुख्यमंत्री को ज्ञापन देकर 3 दिन में गांव छोड़ने की चेतावनी दी है।

सुराना गांव में हिंदुओं ने घरों पर लिखा मकान बिकाऊ है।

(मध्य प्रदेश) के रतलाम जिले का सुराणा गाँव, जिसकी आबादी लगभग 2200 है। गाँव में बहुसंख्यक समुदाय मुस्लिम है, जो कुल आबादी का 60% है और 40% हिंदू हैं। यह गांव आजकल चर्चा का विषय बना हुआ है।

मुसलमानों के उत्पीड़न से तंग आकर यहां रहने वाला हिंदू समुदाय अब गांव से पलायन करने को मजबूर है। उन्होंने मुख्यमंत्री के नाम कलेक्टर को ज्ञापन देकर अपना दुखड़ा सुनाया और कहा कि वह तीन दिन में इस गांव, अपनी जमीन और घर समेत सब कुछ छोड़ने को तैयार हैं।

रिपोर्ट के अनुसार जिले के बिलपंक थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले इस गांव के हिंदू समुदाय का आरोप है कि बहुसंख्यक होने के कारण उन्हें मुस्लिम समुदाय द्वारा प्रताड़ित और धमकाया जाता है।

Journalist Of India

ऐसे में अब उनके पास भागने के अलावा कोई चारा नहीं है। बुधवार (19 जनवरी 2022) को जिले के कलेक्टर ने भी गांव का दौरा कर वहां का हाल जानने का प्रयास किया। उधर, राज्य के गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने एसपी और कलेक्टर दोनों से रिपोर्ट मांगी है।

एसडीएम कार्यालय में पत्रकारों से बात करते हुए दशरथ, मुकेश जाट, भरतलाल जाट ने अपना दर्द बयां किया। उन्होंने कहा कि कई पीढ़ियों से हिंदू और मुसलमान गांव में एक साथ रहते थे।

लेकिन पिछले 2-3 साल से मुसलमानों का आतंक बढ़ा है। ये लोग आए दिन हिंदुओं को निशाना बनाकर हमला कर रहे हैं। इसके अलावा हिंदुओं के खिलाफ झूठे मुकदमे भी दर्ज किए जा रहे हैं।

Journalist Of India

वहीं एसडीएम एमएल आर्य ने कहा है कि किसी भी व्यक्ति को गांव से पलायन नहीं करना पड़ेगा, हम ऐसी स्थिति पैदा नहीं होने देंगे। अधिकारी के मुताबिक प्रशासनिक टीम गांव में जाकर लोगों से बात करेगी।

घरों के बाहर ‘मकान बिकाऊ है’ लिखा

हालात ये हैं कि मुस्लिमों से परेशान गाँव के हिंदुओं ने अपने घरों के बाहर मकान बिकाऊ है लिख दिया है। उनका कहना है कि वे पलायन कर रहे हैं। लोगों का कहना है कि अब प्रशासन तक अपनी बात पहुँचाने के लिए उनके पास इसके अलावा कोई और रास्ता ही नहीं बचा है।

पुलिस पर ये हैं आरोप

ग्रामीणों का आरोप है कि पुलिस उनकी मदद नहीं कर रही है. उल्टे उसके खिलाफ मामला दर्ज किया जा रहा है। पीड़ित हिंदुओं का आरोप है कि पूर्व में जब कोई विवाद हुआ तो वे शिकायत लेकर एसपी के पास गए।

लेकिन, एसपी गौरव तिवारी ने उन्हें घर तोड़कर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत कार्रवाई करने की धमकी दी थी। उन्होंने कहा कि गांव में स्थिति सामान्य है।

गृह मंत्री ने कहा, सुराना को कैराना नहीं बनने देंगे

नरोत्तम मिश्रा ने कहा है कि सुराणा कैराना बनाने वाले राज्य में नहीं हैं. प्रदेश में बीजेपी की सरकार है, शिवराज सिंह का राज। कैराना बनाने की किसी की हिम्मत नहीं है।

यह असमंजस की स्थिति में ही हुआ है, मामला संज्ञान में आते ही तत्काल कलेक्टर-एसपी को मौके पर भेजा गया. अस्थाई पुलिस चौकी का निर्माण किया गया है। मई इंस्पेक्टर दस लोगों को तैनात किया गया है।

एक माह में गांव की छोटी-छोटी समस्याएं जैसे अतिक्रमण, नाली का पानी आदि का समाधान हो जाएगा। दोनों सोसायटी के लोगों को मिलाकर एक कमेटी बनाई गई है।

जिसमें एसडीएम, एसडीओपी होंगे, हर सोसायटी से दो-दो लोग होंगे। आज की बैठक में मामला लगभग सुलझ गया है। जितने भी पुराने बदमाश हैं, उन्हें जिला बदर को रासुका लगाने, राउंडअप करने के आदेश दिए गए हैं.