Bihar: भारत को 2047 तक मुस्लिम राष्ट्र घोषित करने की थी तैयारी! पटना में ट्रेनिंग दे रहे थे PFI और SDPI के ट्रेनर

29

Terror Module in Phulwari Sharif: बिहार पुलिस ने बुधवार को चरमपंथी संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) से संबंधित एक संभावित आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया है।

भारत विरोधी गतिविधियों के चलते पुलिस ने पटना के फुलवारी शरीफ इलाके से दो आरोपियों को गिरफ्तार किया। दोनों पीएफआई और एसडीपीआई के सदस्य हैं।

आरोप है कि ये मुस्लिम लोगों के दिमाग में जहर भरते थे, आतंक का पाठ पढ़ाते थे और उन्हें आतंकी ट्रेनिंग देते थे। इतना ही नहीं ये उन्हें भारत विरोधी गतिविधियों में शामिल होने के लिए उकसाते थे।

मुस्लिमों को भड़काना था मुख्य काम

पटना पुलिस का दावा है कि ये दोनों शातिर आतंकी हैं जो हिंदुओं के खिलाफ मुस्लिमों को भड़काते थे।  दोनों के बारे में पुलिस ने बताया कि ये PFI और एसडीपीआई  के सक्रिय सदस्य हैं।

संगठन की आड़ में दोनों आरोपी राष्ट्रीय स्तर, राज्य स्तरीय, जिला स्तरीय के पीएफआई और एसडीपीआई के सदस्यों के साथ बैठक करते थे।

इन बैठकों में आतंकी एजेंडा चलाते थे।  बता दें कि अतहर परवेज का गुनाह पुराना रिश्ता है।  ये  पटना के गांधी मैदान ब्लास्ट कांड के आरोपी का सगा भाई है।

पटना पुलिस ने इन दोनों को 11 जुलाई को नया टोला नहर पर स्थित मोहम्मद जलालुद्दीन के मकान अहमद पैलेस पर छापेमारी कर उसको और अतहर परवेज को गिरफ्तार किया है।

2047 तक भारत को मुस्लिम देश बनाने की थी तैयारी

पटना के दानापुर से दो संदिग्ध को पटना पुलिस ने गिरफ्तार किया है दोनों पर देश विरोधी गतिविधि और एक समुदाय विशेष के लोगों को आतंकी प्रशिक्षण देने का काम ये लोग कर रहे थेl

सिमी के सदस्य अहमद प्रवेश और गांधी मैदान ब्लास्ट कांड के आरोपी के सगे भाई के द्वारा दिया जा रहा था आतंकी प्रशिक्षण, पाकिस्तान बांग्लादेश केरल समेत कई राज्यों से इन लोगों को फंडिंग होती थी। ये लोग भारत को 2047 तक मुस्लिम देश बनाने की तैयारी कर रहे थे।

एसएसपी का बयान

इस मामले में मनीष कुमार सिन्हा, एएसपी फुलवरिशरीफ  ने बताया, आईबी की  गुप्त सूचना के आधार पर दिनांक 11.07.22 को नया टोला नहर पर स्थित अहमद पैलेस में मो.जलालुद्दीन के मकान में मो.जलालुद्दीन जो सेवानिवृत पुलिस सब इंस्पेक्टर झारखण्ड पुलिस है और  फुलवारी के गुलिस्तान मोहल्ला, फुलवारीशरीफ  के रहनेवाले अतहर परवेज जो सिमी के पूर्व सदस्य रहे हैं।

सिमी के सभी अभियुक्तों का बेल कराते रहे हैं। वर्तमान में पॉपुलर फ्रन्ट ऑफ इंडिया ( PFI ) एवं सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया (SDPI) के सक्रिय सदस्य है।

संगठन की आड़ में ये दोनो व्यक्ति देश विरोधी बैठक और राज्य – देश विरोधी रणनीति पर बैठक करते रहे है।

जलालुद्दीन के मकान में स्थित PFI कार्यालय में मार्शल आर्ट/शारीरिक शिक्षा के नाम पर देश विरोधी अस्त्र/शस्त्र की ट्रेनिंग देने एवं धार्मिक उन्माद फैलाने और आतंकवादी गतिविधि करने की बात सामने आयी है। उपरोक्त तिथि को हुए अत्यन्त गोपनीय ढंग से प्रशिक्षण कार्यक्रम में काफी लोग प्रशिक्षित किये गए है।