बजट के बाद सस्ती होगी बाइक-स्कूटी? मांग बढ़ाने के लिए उठी यह मांग

148
Bike-scooty will be cheaper after the budget? This demand arose to increase the demand

नई दिल्ली : अगर सरकार फेडरेशन ऑफ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन (FADA) की मांग मान लेती है, तो बजट के बाद दोपहिया वाहनों की कीमतों में कमी आ सकती है।

ऑटोमोबाइल डीलर्स के संगठन FADA ने टू-व्हीलर्स पर GST की दरों को घटाकर 18 फीसदी करने की मांग की है, ताकि डिमांड बढ़ सके।

फेडरेशन ऑफ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन (FADA) ने कहा कि टू-व्हीलर कोई लग्जरी उत्पाद नहीं है, और इसलिए GST दरों में कमी की जरूरत है।

FADA का दावा है कि यह 15,000 से अधिक ऑटोमोबाइल डीलरों का प्रतिनिधित्व करता है जिनके पास लगभग 26,500 डीलरशिप हैं।

28 प्रतिशत से घटाकर 18 प्रतिशत करने की मांग

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण वित्त वर्ष 2022-23 का केंद्रीय बजट 1 फरवरी को संसद में पेश करेंगी। इससे पहले FADA ने वित्त मंत्रालय से दोपहिया वाहनों पर GST दरों में 18 प्रतिशत तक की कमी करने का अनुरोध किया था।

फाडा ने कहा कि दोपहिया वाहनों का इस्तेमाल विलासिता की वस्तु के रूप में नहीं, बल्कि आम लोगों द्वारा दैनिक कार्यों के लिए किया जाता है।

FADA ने आगे कहा, इसलिए 28 प्रतिशत जीएसटी के साथ दो प्रतिशत उपकर, जो विलासितापूर्ण उत्पादों के लिए है, दोपहिया श्रेणी के लिए उचित नहीं है।

संगठन का मानना है कि कच्चे माल में तेजी के चलते वाहन की कीमतों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है, और ऐसे में जीएसटी दर में कमी से लागत में बढ़ोतरी का मुकाबला करने और मांग को बढ़ाने में मदद मिलेगी।