बीजेपी (BJP) नेताओं ने दूसरे धर्म में शादी की, क्या ये भी लव जिहाद है? | सीएम भूपेश बघेल

0
65
  • विवाह एक व्यक्तिगत फैसला है और वे इस पर अंकुश लगा रहे हैं। 

रायपुर : देश में ‘लव जिहाद’ का मुद्दा एक बार फिर सुर्खियों में है। भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) जहां इस पर कानून बनाने के पक्ष में दिख रही है, वहीं कांग्रेस (Congress) इसका विरोध करती नजर आ रही है। 

कांग्रेस नेता हर रोज लव जिहाद (Love Jihad) को लेकर बीजेपी (BJP) पर हमलावर हैं। इसी क्रम में अब कांग्रेस नेता और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (Chattisgarh CM Bhupesh Baghel) ने बीजेपी पर हमला बोला है।

  • भूपेश बघेल ने कहा कि बीजेपी नेताओं ने दूसरे धर्म में शादी की, क्या ये भी लव जिहाद है?

छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने कहा- “मैं भाजपा के नेताओं से पूछना चाहता हूं कि जो भाजपा के नेताओं के परिवार के लोगों ने अन्य धर्म के लोगों से विवाह किया है वो लव-जिहाद के दायरे में आता है या नहीं।”

भूपेश बघेल से पहले राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शुक्रवार को बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा है कि ‘लव-जिहाद’ बीजेपी का देश को बांटने के लिए बनाया गया एक शब्द है।

विवाहिता अपने प्रेमी के संग फरार | ‘खोजने की कोशिश मत करना, मर्जी से आई हूं’

गहलोत ने कहा, ‘शादी व्यक्तिगत स्वतंत्रता का मामला है और इसे रोकने के लिए एक कानून लाना पूरी तरह से असंवैधानिक है।’

‘लव जिहाद’ क्या सिर्फ बीजेपी का एजेंडा है? 

‘लव जिहाद’ को लेकर मध्य प्रदेश सरकार ने कानून बनाने का दावा किया है। इस मामले में सबसे पहले मध्य प्रदेश सरकार ने ही पहल की है।
राज्य के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्र ने हाल ही ऐलान किया कि जल्द ही इससे जुड़ा कानून विधानसभा में पेश किया जाएगा। ये गैर जमानती अपराध होगा और दोषियों के लिए पांच साल तक की सजा का प्रावधान होगा।

उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ सरकार भी कानून पर विचार कर रही है।

सिर्फ यूपी ही नहीं कर्नाटक, हिमाचल प्रदेश में भी लव जिहाद के खिलाफ कानून लाए जाने पर विचार शुरू हो गया है। इस बीच केंद्रीय मंत्री और दिग्गज बीजेपी नेता गिरिराज सिंह ने बिहार में नीतीश कुमार (Nitish Kumar) सरकार से अनुरोध किया कि वह लव जिहाद (Love Jihad) पर कानून बनाएं।
हालांकि, गिरिराज सिंह के ‘लव जिहाद’ पर कानून लाने की मांग पर जेडीयू ने कहा कि हमारा विश्वास सद्भाव में है। जेडीयू प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा कि हमारे नेता नीतीश कुमार सभी धर्मों और जातियों को साथ लेकर चलने वाले व्यक्ति हैं।
राज्य सरकार को समझना चाहिए कि लव जिहाद को रोकना और जनसंख्या नियंत्रण का संबंध सामाजिक समरसता से है ना कि यह सांप्रदायिकता को बढ़ावा देना है।
उन्होंने दावा किया कि यह विषय देश के राज्यों में परेशानी का सबब बन गया है। लव जिहाद वाली समस्या को जड़ से समाप्त करना होगा और अगर बिहार में लव जिहाद को रोकने के लिए कानून लाया जाए तो अच्छा होगा।
कोई सरकार क्या फैसला ले रही है, यह उनका मामला है। लव जिहाद पर हमारी सरकार को निर्णय लेना है। संजय सिंह ने कहा कि नीतीश कुमार ने कभी भी दबाव की राजनीति नहीं की है।

बिहार में ‘लव जिहाद’ के खिलाफ कानून की मांग को लेकर एनडीए में सहयोगी जेडीयू ने अपना पक्ष स्पष्ट कर दिया है। हालांकि, सीएम नीतीश कुमार का इस पर क्या फैसला रहेगा ये देखना दिलचस्प होगा।

दूसरी ओर ‘लव जिहाद’ के खिलाफ कानून के मुद्दे पर कांग्रेस के दिग्गज नेता और राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बीजेपी पर पलटवार किया है।

उन्होंने कहा कि समाज को तोड़ने वाला कोई भी प्रस्ताव आएगा तो उसे स्वीकार नहीं किया जाएगा। लव जिहाद के खिलाफ कानून पर महाराष्ट्र सरकार ने भी अपना रुख स्पष्ट किया है।

उद्धव सरकार में मंत्री असलम शेख ने कहा कि जो सरकारें अपनी अक्षमताओं को छिपाना चाहती हैं, वे ऐसे कानूनों को ला रही हैं। महाराष्ट्र सरकार अपना काम कुशलता से कर रही है, और उसे ऐसे कानून लाने की जरूरत नहीं है।

सांप्रदायिक सौहार्द को बिगाड़ने का प्रयास

उन्होंने कहा कि ‘लव जिहाद’ बीजेपी के जरिये देश को विभाजित करने और सांप्रदायिक सौहार्द को बिगाड़ने का बनाया गया शब्द है।

गहलोत ने कहा कि शादी-विवाह व्यक्तिगत स्वतंत्रता का मामला है, उस पर अंकुश लगाने के लिए कानून लाना पूरी तरह से असंवैधानिक है और यह कानून किसी भी अदालत में नहीं टिकेगा। प्यार में जिहाद की कोई जगह ही नहीं है।

अशोक गहलोत ने एक और ट्वीट में बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि वे देश में एक ऐसा माहौल बना रहे हैं, जहां वयस्क सहमति के लिए राज्य की सत्ता की दया पर निर्भर होंगे।

उन्होंने आगे कहा कि यह सांप्रदायिक सद्भाव को बाधित करने और सामाजिक संघर्ष को बढ़ावा देने और संवैधानिक प्रावधानों की अवहेलना करने वाला है।

राज्य नागरिकों के साथ किसी भी आधार पर भेदभाव नहीं करता है। फिलहाल कांग्रेस ने इस मुद्दे पर सीधे तौर पर बीजेपी को घेरा है। अब देखना होगा कि बीजेपी का इस मुद्दे पर आने वाले दिनों क्या स्टैंड रहने वाला है।

उत्तर प्रदेश में‘लव जेहाद’के खिलाफ सख्त कानून का प्रस्ताव

मध्यप्रदेश के बाद यूपी के सीएम मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हाल में एक चुनाव रैली के दौरान किए गए वादे पर अमल करते हुए उत्तर प्रदेश के गृह विभाग ने कानून विभाग को ‘लव जेहाद’ के खिलाफ सख्त कानून लाने का प्रस्ताव भेजा है।

इधर लव जिहाद को लेकर बिहार में बीजेपी के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने भी कानून बनाने की मांग कर दी है। उन्होंने दावा किया कि यह विषय देश के राज्यों में परेशानी का सबब बन गया है।

लव जिहाद वाली समस्या को जड़ से समाप्त करना होगा और अगर बिहार में लव जिहाद को रोकने के लिए कानून लाया जाए तो अच्छा होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here