चाणक्य नीति : इन 6 बातों पर कभी विश्वास न करें, सामना होने पर करें ये काम

261
Chankya Niti: Don't want to suffer throughout life, so stay away from such people

Chanakya Niti : अगर कोई व्यक्ति जीवन में सफल और खुश रहना चाहता है तो उसे चाणक्य की रणनीति अपनानी चाहिए। आचार्य चाणक्य की नीतियां बहुत सख्त मानी जाती हैं लेकिन यही जीवन की सच्चाई है।

चाणक्य ने अपनी नैतिकता के माध्यम से पाप-पुण्य, कर्तव्य और अधर्म की बात की है, उनकी नीतियों के कारण मनुष्य अपने जीवन को बेहतर बना सकता है।

आचार्य चाणक्य की नीतियां वर्षों से प्रभावी मानी जाती रही हैं। यहां हम आपको चाणक्य की रणनीतियों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनकी मदद से आप अपने जीवन को सफल बना सकते हैं।

नखिनं चा नादिनं चा श्रृंगीनं शास्त्रपणिनम।
वफादार नव कर्तव्य: नारीवादी राजकुलेशु च।

आचार्य चाणक्य की नीति के इस कथन के अनुसार, बड़े नाखून वाले जानवर, सींग वाले जानवर, सशस्त्र, तेज बहने वाली नदी, महिलाओं और शाही परिवार के लोगों पर कभी भी भरोसा नहीं करना चाहिए।

इस वचन में आचार्य चाणक्य यह कहने की कोशिश कर रहे हैं कि किसी पर भी आंख मूंदकर भरोसा नहीं करना चाहिए। हमेशा अपनी बुद्धि और विवेक का प्रयोग करें।

इस श्लोक के माध्यम से चाणक्य यह कहना चाहते हैं कि नुकीले पंजे और सींग वाले जंगली जानवर कब शांत दिखाई देने पर भी अचानक बेचैन हो जाते हैं।

यही हाल नदी का भी है, नदी पार करते समय उसकी गहराई और प्रवाह को जानना होता है, नदी की गति कब बाधित हो जाती है, यह कोई नहीं जानता।

महिलाओं के बारे में अक्सर कहा जाता है कि वे किसी से भी अपने मन की बात नहीं कहती हैं, इसलिए उन पर तुरंत या किसी को भी भरोसा नहीं करना चाहिए।

वहीं चाणक्य के अनुसार किसी पर भी आंख मूंद कर भरोसा नहीं करना चाहिए। वहीं अगर कोई आपका दुश्मन है तो भले ही उसने अभी तक आपको नुकसान नहीं पहुंचाया हो। लेकिन उस पर भरोसा न करें क्योंकि आप नहीं जानते कि वह कब दर्द कर रहा है।

इसलिए चाणक्य ने इन बातों पर विश्वास करने से इनकार कर दिया है। आप अन्य लोगों को जो सहायता प्रदान करते हैं, उसमें आपको अधिक भेदभावपूर्ण होना होगा। इन बातों को ध्यान में रखते हुए आपको भी अपने जीवन में आगे बढ़ना चाहिए।