Chanakya Niti : लाख कोशिशों के बाद भी कभी चोरी नहीं हो सकती ये चीजें

189
Chanakya Niti

Chanakya Niti : राजनीति विज्ञान के शिक्षक रहे विष्णु गुप्त यानि आचार्य चाणक्य के शब्द आज भी बहुत महत्वपूर्ण हैं। सफल जीवन जीने के लिए उनकी बातों का पालन करना बहुत जरूरी है। आचार्य चाणक्य की नीतियां और विचार आपको कठोर लग सकते हैं, लेकिन यही कठोरता जीवन का सत्य है।

भागदौड़ भरी जिंदगी में हम इन विचारों को भले ही नजरअंदाज कर दें, लेकिन ये शब्द जीवन की हर परीक्षा में आपकी मदद करेंगे। आइए आज की चाणक्य नीति में जानते हैं कि आपसे कभी कोई कुछ नहीं छीन सकता।

आचार्य चाणक्य ने अपनी नैतिकता में बताया है कि शिक्षा एक ऐसी चीज है जिसे आप न तो किसी से छीन सकते हैं और न ही कोई चुरा सकता है।

आचार्य के अनुसार, यह एक ऐसी संपत्ति है जिसे आप निश्चिंत होकर जमा कर सकते हैं। इसे चोरी करने का कोई डर नहीं है।

आचार्य चाणक्य बताते हैं कि एक व्यक्ति को जीवन यापन करने के लिए शिक्षित किया जाता है। वह न केवल अपने पैरों पर खड़ा होता है, बल्कि शिक्षा के माध्यम से वह अपने लिए सभी सुख-सुविधाओं का संग्रह भी कर सकता है।

आपका ज्ञान देखकर कई लोग आपसे ईर्ष्या भी कर सकते हैं। लेकिन वे भूल जाते हैं कि उनकी ईर्ष्या भी आपको नुकसान नहीं पहुंचा सकती।

अगर वह आपसे चोरी करना भी चाहे तो लाख कोशिशों के बाद भी उसके हाथ खाली रह जाएंगे। आचार्य चाणक्य ने शिक्षा को ऐसा धन माना है, कि आप कितना भी खर्च कर लें, वह कभी कम नहीं होती।