Chanakya Niti : पति-पत्नी के बीच मनमुटाव पैदा करती हैं ये बातें, करें इनसे तुरंत दूरी

98
Chanakya Niti

Chanakya Niti : आचार्य चाणक्य अपनी रणनीतियों के लिए जाने जाते हैं। चाणक्य ने ही अपनी नीतियों के आधार पर एक साधारण बालक चंद्रगुप्त मौर्य को मगध का सम्राट बनाया था।

आचार्य चाणक्य ने इन नीतियों की अपनी समझ के आधार पर नैतिकता की रचना की। नैतिकता की बातें लोगों को कड़वी लग सकती हैं, लेकिन यह जीवन की सच्चाई को बयां करती हैं।

चाणक्य द्वारा लिखी गई नैतिकता में जीवन के हर क्षेत्र से जुड़ी महत्वपूर्ण बातों का उल्लेख है। यदि कोई व्यक्ति इन बातों का ध्यान रखता है, तो व्यक्ति न केवल समस्याओं से बच सकता है।

बल्कि एक संतुष्ट और सफल जीवन भी व्यतीत कर सकता है। चाणक्य नीति में रिश्तों से जुड़ी कई अहम बातों का भी जिक्र है, जिसे इंसान अगर अपने जीवन में उतार ले तो उससे ज्यादा खुश इस धरती पर कोई नहीं हो सकता।

पति-पत्नी का रिश्ता बहुत महत्वपूर्ण होता है और साथ ही साथ मजबूत भी होता है, लेकिन कुछ चीजें ऐसी भी होती हैं जिनकी वजह से पति-पत्नी के बीच मनमुटाव की स्थिति बन जाती है।

ऐसे में पति-पत्नी को अपने रिश्ते को मजबूत बनाने के लिए कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए। आइए जानते हैं क्या हैं वो चीजें।

एक – दुसरे पर विश्वास रखो

विश्वास हर रिश्ते की नींव होता है। अगर आपको अपने जीवनसाथी पर भरोसा नहीं है, तो इसका मतलब है कि आपके रिश्ते की डोर मजबूत नहीं है।

अगर पति-पत्नी के बीच शक की दीवार आ जाए तो इसका मतलब है कि आपका रिश्ता टूटने के कगार पर है। इसलिए अपने रिश्ते में कभी भी संदेह को न आने दें। अगर आपको कभी ऐसा लगे तो सीधे उनके पास जाइए और उनसे पूछिए.

अहंकार से दूर रहें

पति-पत्नी के रिश्ते में अहंकार का कोई स्थान नहीं होना चाहिए। चाणक्य की नैतिकता के अनुसार धर्म में पति-पत्नी दोनों को समान दर्जा प्राप्त है।

इसलिए दोनों को एक-दूसरे का सम्मान करना चाहिए। याद रखिये जिस रिश्ते में अहमियत आती है वो रिश्ता ज्यादा दिन नहीं टिकता।

झूठ मत बोलो

अगर पति-पत्नी कुछ छिपाने के लिए झूठ बोलते हैं, तो समझ लें कि उनके रिश्ते में बचाने के लिए कुछ नहीं है। अगर कभी आपको लगे कि आप सच बोलने की हिम्मत नहीं कर पा रहे हैं तो आपस में बात कर समस्या का समाधान करें। और एक दूसरे की मदद करने की कोशिश करें।

अपने घर के बाहर बातें न बताएं

पति-पत्नी को कभी भी अपनी निजी बातें बाहरी लोगों को नहीं बतानी चाहिए। चाहे वह आपके कितने ही करीब क्यों न हो।

ध्यान रखें कि बाहर से अपने निजी रहस्यों को जानने से आपकी छवि खराब होगी और अगर ऐसा हुआ तो आपके रिश्तों पर बुरा असर पड़ेगा।

एक दूसरे का अपमान मत करो

शादी सिर्फ भरोसे या प्यार पर ही नहीं बल्कि एक-दूसरे के सम्मान पर भी आधारित होती है। अगर पति-पत्नी में एक-दूसरे का सम्मान नहीं होगा तो दूसरे को अपमानित महसूस होगा।

ऐसे में रिश्ते में दरार आने की संभावना है। इसलिए पति-पत्नी को अपने रिश्ते का सम्मान करना चाहिए। चाणक्य नीति कहेगी कि सम्मान देंगे तो सम्मान मिलेगा और इससे आपके रिश्ते का बंधन और भी मजबूत होगा।