राम मंदिर निर्माण के लिए अब तक मिल चुका है यह दान, 5000 करोड़ नकद, 4 क्विंटल चांदी और सोना

69
So far this donation has been received for the construction of Ram temple, 5000 crores cash, 4 quintals of silver and gold

Ram Temple Construction | अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण जोरों पर है। श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र की मानें तो जनवरी 2024 में रामलला को उनके भव्य और दिव्य मंदिर में विराजमान किया जाएगा।

अपने सपनों को पूरा होते देख हर राम भक्त राम मंदिर के लिए पूरा सहयोग दे रहे है। इसमें नकद रुपये से लेकर सोना, चांदी, पत्थर और कई तरह के सहयोग शामिल हैं।

श्रीराम जन्मभूमि मंदिर के लिए राम भक्तों ने दिल खोलकर रखा, मंदिर निर्माण के लिए 15 जनवरी से 27 फरवरी 2021 तक समर्पण कोष अभियान चलाया गया।

यह समर्पण कोष अभियान इतना बड़ा था कि इसमें 9,00,000 कार्यकर्ताओं ने 175 हजार दल बनाकर घर-घर जाकर 10 करोड़ परिवारों से संपर्क किया।

समन्वय के लिए 49 नियंत्रण केंद्र स्थापित किए गए और 23 विशेषज्ञों की एक टीम द्वारा पूरी प्रक्रिया की निगरानी की गई।

सूत्रों की मानें तो श्रीराम जन्मभूमि मंदिर निर्माण के लिए अब तक 5000 करोड़ रुपये से अधिक का समर्पण किया जा चुका है।

श्री राम मंदिर निर्माण पर खर्च होने के बाद भी श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के बैंक खातों में 3500 करोड़ रुपये से अधिक जमा है।

राम मंदिर ट्रस्ट के ट्रस्टी कामेश्वर चौपाल का कहना है कि कई ऐसे डेडिकेशन फंड सेंटर हैं, जिनका डाटा ट्रस्ट तक नहीं पहुंचा है, ऐसे डेडिकेशन सेंटरों की संख्या 35 से ज्यादा है।

उनके खातों का विवरण और ऑडिट रिपोर्ट मिलने के बाद, यह तय किया जाएगा कि ट्रस्ट को सरेंडर फंड के रूप में कितनी राशि मिली है।

हालांकि इसके बावजूद ट्रस्ट के खाते में 3500 करोड़ की राशि जमा करा दी गई है। श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के कोषाध्यक्ष गोविंद देव गिरि का भी कहना है कि इतनी ही राशि ट्रस्ट के खाते में जमा करा दी जाएगी।

मंदिर निर्माण के साथ ही राम भक्तों ने नकद के साथ-साथ चेक और सोना-चांदी भी दान करना शुरू कर दिया। बड़ी संख्या में सोना-चांदी का दान देखकर राम मंदिर ट्रस्ट ने कहा था कि अभी ऐसी धातुओं की जरूरत नहीं है।

अब श्रीराम जन्मभूमि मंदिर निर्माण के लिए सिर्फ पैसों की जरूरत है। इसके बाद सोना-चांदी जैसी धातुओं के दान पर रोक लगा दी गई।

ट्रस्टी कामेश्वर चौपाल ने बताया कि राम भक्तों द्वारा लगभग 4 क्विंटल चांदी और सोना दान किया गया है।श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के एक अन्य ट्रस्टी अनिल मिश्रा ने बताया कि, राम भक्तों से मिले सोने-चांदी के सामान को स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के लॉकर में सुरक्षित रखा गया है।

स्टेट बैंक के अलावा पंजाब नेशनल बैंक और बैंक ऑफ बड़ौदा में भी श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के खाते हैं और सभी में सरेंडर फंड की राशि जमा है।

Also Read