Crime News : प्रेम प्रसंग में युवक की हत्या का आरोपित गिरफ्तार

168
First Delhi, then Meerut came to Bangalore and got the accused of rape arrested, friendship was done on Facebook

चतुर्भुज। थाना सर्किल चारभुजा के अमरतिया में 30 जनवरी को गुडालिया मार्ग पर एक युवक की हत्या के मामले में 24 घंटे के भीतर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है।

चारभुजा थानाप्रभारी भवानी शंकर ने बताया कि देवस्थान मढ़ी थाना केलवा निवासी लक्ष्मण लाल (30) पुत्र भैरूलाल प्रजापत की हत्या के मामले में पुलिस ने चारभुजा थाना क्षेत्र के गुडालिया निवासी लक्ष्मणलाल पुत्र मन्नालाल मेघवाल थाना चारभुजा को गिरफ्तार कर लिया है।

उन्होंने बताया कि मामले में अपर पुलिस अधीक्षक राजसमंद शिवलाल बैरवा, कुम्भलगढ़ के पुलिस उपाधीक्षक नरेश कुमार शर्मा ने मौके का निरीक्षण किया और मामले की गंभीरता को देखते हुए मामले का खुलासा करने एवं आरोपियों की गिरफ्तारी के निर्देश दिये।

आरोपित की तलाश के लिए रात में जिला विशेष टीम प्रभारी आदर्श कुमार, पुलिस निरीक्षक व साइबर टीम प्रभारी पवन सिंह एएसआई मौके पर पहुंचे। उन्होंने आसपास के गांव गुडालिया, अमर्तिया, लम्बोदी, गोमती चौराहा में संदिग्ध व्यक्तियों से पूछताछ की।

इस पर आरोपी लक्ष्मण लाल मेघवाल द्वारा हत्या का मामला सामने आया, जिस पर उसे गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस ने आरोपी को कोर्ट में पेश किया, जहां से उसे पूछताछ के लिए रिमांड पर लिया गया।

इस तरह दिया गया अपराध का निष्पादन

मृतक लक्ष्मण लाल प्रजापत आरोपी को गांव गुडालिया में लंबे समय से जानता था। घटना से पहले भी मृतक कई बार लंबोदी और गोमती के आसपास आता-जाता था।

बताया कि लोटन बाबा के दर्शन के दौरान भी वह अपने प्रेम प्रसंग के चलते यात्रा में किसी लड़की से मिलने आया था। 29 जनवरी को भी मृतक लक्ष्मण गुडालिया आए और आरोपियों से मिले।

उसने मेघवाल के परिवार की एक लड़की से प्रेम प्रसंग की बात कही। इस पर आरोपी मृतक प्रजापत से नाराज हो गया और उसी समय उसे जान से मारने का इरादा बना लिया।

साथ में शराब पी

इसके बाद दोनों ने रात में ही लक्ष्मण मेघवाल के बाड़े में बने कमरे में शराब पी ली। इसके बाद दोनों रात में ही मोटरसाइकिल से गुडालिया से अमर्टिया चले गए।

जहां रात के करीब 1 बजे आरोपी लक्ष्मण ने मामूली शक के बहाने मोटरसाइकिल रोक दी। इसके बाद दोनों खेत की ओर चले गए और आते समय आरोपितों ने लक्ष्मण प्रजापत के सिर पर लाठी से वार कर घायल कर दिया। इसके बाद उसके सिर पर लाठियों और पत्थरों से वार कर उसकी हत्या कर दी।

एक्शन टीम

पुलिस टीम में जसवंत सिंह, गोविंद सिंह, लक्ष्मणलाल, श्रवण कुमार, पर्वत सिंह, छताराम, भंवरदन, अशोक कुमार, ओमराम, भगवानराम, सुमित्रा शामिल थे.