Cryptocurrency Prices : बिटकॉइन में गिरावट जारी, Ethereum, Cardano की कीमतें भी गिरी

150
Cryptocurrency Prices: Bitcoin Continues To Fall, Ethereum, Cardano Prices Also Fall

Cryptocurrency Prices : पिछले 24 घंटों के दौरान वैश्विक क्रिप्टोक्यूरेंसी बाजार पूंजीकरण 2.14 प्रतिशत गिरकर 1.86 ट्रिलियन डॉलर तक पहुंच गया है। वहीं, ट्रेडिंग वॉल्यूम 11.35 फीसदी गिरकर 61.44 अरब डॉलर पर आ गया।

विकेंद्रीकृत वित्त (DeFi) 24 घंटे के क्रिप्टोक्यूरेंसी ट्रेडिंग वॉल्यूम का 11.58 प्रतिशत $ 7.11 बिलियन है। जबकि, स्थिर स्टॉक 80.37 प्रतिशत की बढ़त के साथ 49.37 अरब डॉलर तक पहुंच गया है।

बिटकॉइन की बाजार उपस्थिति 0.31 प्रतिशत बढ़कर 42.60 प्रतिशत हो गई है। बाजार पूंजीकरण के हिसाब से दुनिया की सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी आज 41,687.64 डॉलर पर कारोबार कर रही है।

Prime Minister Kisan Sampada Yojana 2022 | सरकार ने बढ़ाई योजना की अवधि, किसानों को होगा फायदा

रुपये के लिहाज से बिटकॉइन 1.14 फीसदी की गिरावट के साथ 33,30,681 रुपये पर कारोबार कर रहा है। वहीं, इथेरियम 2.22 फीसदी की गिरावट के साथ 2,27,351 रुपये पर पहुंच गया है।

वहीं, कार्डानो 3.13 फीसदी की गिरावट के साथ 81.88 रुपये पर आ गया है। वहीं हिमस्खलन 5.27 फीसदी की गिरावट के साथ 6,128.8 रुपये पर आ गया है।

Polkadot, Litecoin में भी आई गिरावट

वहीं पोलकाडॉट 3.85 फीसदी की गिरावट के साथ 1,451.04 रुपये पर आ गया है. वहीं लिटकोइन पिछले 24 घंटे में 2.76 फीसदी की गिरावट के साथ 9,729.4 रुपये पर आ गया है। वहीं, टीथर 0.2 फीसदी की तेजी के साथ 79.71 रुपये पर पहुंच गया है।

Mimcoin SHIB की बात करें तो इसमें 2.96 फीसदी की बढ़त देखी गई है। वहीं, डॉगकॉइन की कीमत 1.68 फीसदी की तेजी के साथ 11.68 रुपये पर कारोबार कर रही है। टेरा (LUNA) 1.66 फीसदी की गिरावट के साथ 4,130.14 रुपये पर है।

वहीं, सोलाना की बात करें तो यह क्रिप्टोकरेंसी पिछले 24 घंटों के दौरान 4.46 फीसदी गिरकर 7,327.73 रुपये पर आ गई है। एक्सआरपी में 3.27 फीसदी की गिरावट देखी गई है।

यह फिलहाल 62.87 रुपये पर कारोबार कर रहा है। वहीं, एक्सी 5.77 फीसदी की गिरावट के साथ 4,463.5 रुपये पर आ गया है।

क्रिप्टोकरेंसी के रेगुलेशन के लिए अभी भारत में कानून नहीं

आपको बता दें कि सरकार ने क्रिप्टोकरेंसी और रेगुलेशन ऑफ ऑफिशियल डिजिटल करेंसी बिल, 2021 संसद के शीतकालीन सत्र में पेश करने के लिए लिस्ट किया था।

इसे पहले बजट सत्र के लिए भी लिस्ट किया गया था, लेकिन इसे पेश नहीं किया जा सका था, क्योंकि सरकार ने इस पर दोबारा काम करने का फैसला लिया था।

क्रिप्टोकरेंसी पिछले कुछ समय में निवेश के तौर पर लोगों के बीच एक लोकप्रिय विकल्प बनकर सामने आया है; खास तौर पर, बड़ी संख्या में युवा इसमें पैसा लगा रहे हैं।

Also Read