AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी को Z कैटेगरी की सुरक्षा देने का फैसला, ओवेसी का सुरक्षा लेने से किया इनकार

92
Decision to give Z category security to AIMIM chief Asaduddin Owaisi, refused to take Owaisi's security

नई दिल्ली : केंद्र सरकार ने AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी को Z कैटेगरी की सुरक्षा देने का फैसला किया है। ओवैसी पर गुरुवार को यूपी के हापुड़ में हमला हुआ था।

विश्वसनीय सूत्रों ने कहा कि सरकार ने ओवैसी की सुरक्षा की समीक्षा की है। तत्पश्चात उन्हें तत्काल प्रभाव से जेड श्रेणी की सुरक्षा प्रदान करने का निर्णय लिया गया। हालांकि, ओवैसी ने कहा है कि वह न तो डरेंगे और न ही सुरक्षा की मांग करेंगे।

हमला छिजासरी टोल प्लाजा के पास हुआ

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी की कार पर गुरुवार शाम करीब साढ़े पांच बजे फायरिंग की गई।

घटना उस वक्त हुई जब उनका काफिला पिलखुवा के पास छिजारसी टोल प्लाजा से गुजर रहा था. कार के नीचे दो युवकों ने फायरिंग कर दी।

इस दौरान समर्थकों ने एक हमलावर को पकड़कर टोल कर्मियों के हवाले कर दिया. उसके पास से एक पिस्टल बरामद हुई है। बाद में पुलिस ने छापेमारी कर एक अन्य को भी पकड़ लिया। घटना सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई।

गिरफ्तार किए गए दोनों आरोपी ओवैसी से इसलिए नाराज थे क्योंकि

पुलिस ने गिरफ्तार आरोपी का नाम सचिन और शुभम बताया है। उसने पूछताछ के दौरान बताया कि वह ओवैसी के अभद्र भाषा से नाराज था, इसलिए हमला किया।

पूछताछ में सचिन ने बताया कि शुभम से उसकी दोस्ती फेसबुक पर हुई थी। इसके बाद फोन पर बात होने लगी। फोन पर ही हमले की योजना बनाई। दोस्तों से पिस्टल ले ली। हमले से पहले दोनों मिले और कार से टोल प्लाजा पहुंचे।

हमले को साजिश बताया, सुरक्षा लेने से किया इनकार

हमले को साजिश बताते हुए ओवैसी ने अपने विरोधियों को चुनौती दी। उन्होंने कहा था कि वह न तो डरने वाले हैं और न ही सुरक्षा की मांग करने वाले हैं। अब देखना होगा कि वह केंद्र द्वारा मुहैया कराई गई जेड कैटेगरी की सुरक्षा लेते हैं या नहीं?

Z कैटेगरी की सुरक्षा में 22 गार्ड तैनात हैं

Z श्रेणी की सुरक्षा में चार से पांच एनएसजी कमांडो समेत कुल 22 सुरक्षा गार्ड तैनात हैं। इनमें दिल्ली पुलिस, आईटीबीपी या सीआरपीएफ के कमांडो और स्थानीय पुलिसकर्मी शामिल हैं।