Demat Account : डीमैट खाता खुलवा रहे हैं तो इन बातों का रखें ध्यान, फायदे में रहेंगे

154
Demat Account: If you are opening a demat account, keep these things in mind, you will be in profit

Demat Account: आपने Demat Account के बारे में तो सुना ही होगा, लेकिन बहुत से लोग Demat Account के बारे में नहीं जानते हैं. दरअसल, शेयर बाजार में निवेश करने के लिए एक डीमैट खाता (Demat account) खोला जाता है। शेयर बाजार में ट्रेडिंग बिना डीमैट अकाउंट के नहीं होती है। आज हम आपको बता रहे हैं कि डीमैट खाता खोलते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

ब्रोकरेज और ट्रांजेक्शन फीस

  • ब्रोकरों के बीच डीमैट अकाउंट खोलने और ब्रोकरेज चार्ज अलग-अलग हैं.
  • आजकल ज्यादातर मुफ्त डीमैट खाते खोल रहे हैं.
  • इक्विटी खरीदने और बेचने पर आपसे लेनदेन (ट्रांजेक्शन) की फीस ली जा सकती है.

इन बातों की करें जांच

  • डीमैट अकाउंट की फीस, सालाना मेंटेनेंस चार्ज, ट्रांजेक्शन फीस.
  • ट्रांजेक्शन फीस को लेकर ब्रोकरों के बीच बड़ा अंतर हो सकता है.

अन्य सुविधाएं

  • आपको ब्रोकरेज हाउस क्या-क्या सुविधाएं देगा यह जरूर जान लें.
  • कुछ ब्रोकरेज हाउस इक्विटी ब्रोकिंग की सेवा के अतिरक्त भी कई प्रकार की अन्य सेवाएं देते हैं.
  • जैसे कई ब्रोकरेज फर्म आपको समय-समय पर रिसर्च उपलब्ध कराती रहती हैं. यह रिसर्च आपको सही जगह निवेश करने में मदद करती है.

डीमैट और ट्रेडिंग खाता

  • आपका ब्रोकर 2-इन-1 डीमैट और ट्रेडिंग खाता आपको देता हैं तो यह सबसे अच्छा है.
  • ट्रेडिंग खाते के बगैर डीमैट खाता अधूरा है.
  • ध्यान रखें कि डीमैट खाते में आप सिर्फ डिजिटल रूप में शेयरों को रख सकते हैं.
  • ट्रेडिंग खाते के साथ आप शेयर, आईपीओ, म्यूचुअल फंड और यहां तक गोल्ड में निवेश कर सकते हैं. इसके बाद आप इन्हें डीमैट खाते में रख सकते हैं.

पोर्टफोलियो की जानकारी भी जरूरी

  • कुछ ब्रोकरेज हाउस आपके पोर्टफोलियो की जानकारी आपको समय-समय पर देते हैं.
  • इससे निवेश से मिलने वाले रिटर्न की जानकारी रखने में मदद मिलती है.

कनेक्टिविटी

  • कारोबार के लिए फोन और इंटरनेट दोनों का ही इस्तेमाल किया जा सकता है.
  • ब्रोकरेज हाउस दोनों में से कौनसी सुविधा मुहैया करवाता है यह जानना जरूरी है.
  • वैसे ज्यादातर ब्रोकर्स दोनों ही सुविधाएं देते हैं.