किसानों को खेती के लिए नहीं होगी डीजल की जरूरत, ये है सरकार की योजना

166
Farmers will not need diesel for farming, this is the government's plan

नई दिल्ली, 13 फरवरी : अगर सब कुछ ठीक रहा तो भारत का कृषि क्षेत्र अगले दो वर्षों में डीजल मुक्त हो जाएगा। केंद्रीय ऊर्जा मंत्री आरके सिंह ने यह जानकारी दी है।

उन्होंने कहा कि वर्ष 2024 तक देश डीजल के स्थान पर कृषि क्षेत्र में अक्षय ऊर्जा के 100 प्रतिशत उपयोग के लक्ष्य को प्राप्त कर लेगा। इससे भारत का कृषि क्षेत्र डीजल से मुक्त हो जाएगा।

आरके सिंह राज्यों को निर्धारित लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए कार्य योजना विकसित करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि हम एक नए और आधुनिक भारत के लिए काम कर रहे हैं।

जो आधुनिक बिजली व्यवस्था के बिना नहीं हो सकता। हम इसे हासिल करने के लिए सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के साथ काम करने की उम्मीद करते हैं।

भारत का अक्षय ऊर्जा क्षेत्र: एक रिपोर्ट के अनुसार, भारत के नवीकरणीय ऊर्जा क्षेत्र में 2030 तक लगभग दस लाख लोगों को रोजगार देने की क्षमता है।

इस क्षेत्र में अधिकांश रोजगार छोटे पैमाने पर अक्षय ऊर्जा परियोजनाओं से सृजित होंगे। वित्तीय वर्ष 2020-21 में ज्यादातर नए कर्मचारी रूफटॉप सोलर कैटेगरी में काम कर रहे थे। वित्तीय वर्ष 2019-20 की तुलना में इस क्षेत्र की क्षमता सालाना आधार पर नौ प्रतिशत बढ़ी है।