Gehraiyaan Movie Review : नई जनरेशन के बीच उलझे रिश्तों की कहानी बयां करती ‘गहराइयां’ | बोल्ड सीन में दिखी फ्लॉप केमिस्ट्री

305
gehraiyaan

Gehraiyaan Movie Review : प्यार, रिश्ते और शादी के मामले सामने से जितने आसान होते हैं, अंदर से उतने ही मुश्किल। ‘कुछ कुछ होता है’ के राहुल ने कहा था कि प्यार एक बार होता है।

लेकिन राहुल गलत थे, क्योंकि प्यार सिर्फ एक बार नहीं होता और अगर ऐसा होता भी है, तो ऐसा नहीं है कि यह कभी खत्म नहीं होगा।

प्यार में हर कोई एक-दूसरे के लिए मरने को तैयार नहीं होता, ये अहसास और इसके साथ आने वाला रिश्ता और इसकी जिम्मेदारी चांद-तारों को तोड़ने से भी भारी होती है।

Gehraiyaan Movie Review - journalistofindia.com/

Gehraiyaan Movie Review: दीपिका पादुकोण, सिद्धांत चतुर्वेदी, धैर्य करवा और अनन्या पांडे स्टारर ‘गहराइयां’ आज यानी 11 फरवरी को रिलीज हो चुकी हैं 3 स्टार्स रिलीज हो चुके हैं।

शकुन बत्रा की ‘गहराइयां’ उलझे रिश्तों की कहानी है। इससे पहले भी डायरेक्टर शकुन बत्रा ‘कपूर एंड संस’ और एक मैं और एक तू जैसे रिश्तों पर आधारित फिल्में बना चुके हैं। इस बार शकुन बत्रा अपनी फिल्म के किरदारों को अलग अंदाज में पेश कर रहे हैं।

उलझे रिश्तों की कहानी में है गहराई

फिल्म ‘गहराइयां’ की कहानी में अलीशा खन्ना (दीपिका पादुकोण), टिया खन्ना (अनन्या पांडे), जैन (सिद्धांत चतुर्वेदी) और करण अरोड़ा (घैर्या करवा) चार मुख्य किरदार हैं। कहानी इन्हीं चारों के इर्द-गिर्द घूमती है।

अलीशा और टिया दो ऐसी चचेरी बहनें हैं जो एक बेहतरीन बॉन्ड शेयर करती हैं। लेकिन इन दोनों के बीच एक बहुत बड़ा वित्तीय अंतर है। अलीशा और करण रिलेशनशिप में हैं।

जबकि टिया जैन से मिलती है, बाद में दोनों एक दूसरे को पसंद करते हैं और डेटिंग शुरू करते हैं। इसलिए एक दिन टिया और ज़ैन अलीशा और करण से मिलते हैं। चारों खूब घूमते हैं और साथ में वक्त बिताते हैं।

Gehraiyaan movie review : journalistofindia.com/

लेकिन इसी बीच ज़ैन और अलीशा एक दूसरे के करीब आ जाते हैं। इतना ही नहीं ये एक दूसरे को डेट भी करने लगते हैं।

अब दोनों के रिश्ते अपने पार्टनर से खराब होने लगे हैं। इधर टिया-ज़ैन और करण-अलीशा के बीच दूरियां आने लगती हैं, आकर्षण खत्म हो जाता है।

इसके अलावा इन चारों के बीच कुछ और दिक्कतें भी हैं। कहानी में दिलचस्प मोड़ तब आता है जब टिया और करण को सच्चाई का पता चलता है।

क्या होगा जब अलीशा और ज़ैन के बारे में सच्चाई सामने आएगी? ये है फिल्म घी की कहानी। बेशक कहानी से कुछ अंदाजा लगाया जा सकता है, लेकिन फिल्म का क्लाइमेक्स अलग है। जिसके बारे में सोचा भी नहीं जा सकता।

दीपिका पादुकोण ने लूटी महफिल

यह कहानी प्रेम कहानी के साथ सस्पेंस और ड्रामा से भरपूर है। दीपिका पादुकोण ने फिल्म में शानदार काम कर दर्शकों को दिल जीत लिया है।

दीपिका ने जटिल किरदारों की नब्ज कुछ इस तरह पकड़ी है कि वह कमाल करके ही उन्हें दिखाती हैं। सिद्धांत चतुर्वेदी के अभिनय में बहुत ताकत है। लेकिन उन्हें और पॉलिश की भी जरूरत है।

PM Kisan Yojana 2022 :  किसानों के लिए खुशखबरी, 11वीं किस्त के साथ आया नया अपडेट, जानिए कैसे होगा फायदेमंद

धैर्य करवा ने अपने किरदार को बखूबी निभाया है। अनन्या पांडे का काम भी ठीक है। जैसे-जैसे फिल्म आगे बढ़ती है।

अनन्या को अपनी अभिनय प्रतिभा दिखाने का मौका दिया जाता है। नसीरुद्दीन शाह और रजत कपूर जैसे अभिनेताओं के काम पर आप कभी शक नहीं कर सकते।

क्यों देखें ये फिल्म

बड़ी कास्ट वाली इस फिल्म को वीकेंड पर देखना तो बनता है। हां लेकिन अगर आप गंभीर किस्म की फिल्में देखना पसंद नहीं करते तो शायद ये फिल्म आपके लिए न हो।

लेकिन अगर नई जनरेशन की जिंदगी में क्या चल रहा है, करीब से ये जानना चाहते हैं तो फिल्म गहराइयां जरूर देखें।

Also Read