Gyanvapi Masjid Case : ज्ञानवापी मस्जिद परिसर में नहीं घुस पाई टीम, बिना सर्वे किए लौटी

41
Gyanvapi Masjid Case: Team could not enter Gyanvapi Masjid premises, returned without survey

Gyanvapi Masjid Case : वाराणसी की ज्ञानवापी मस्जिद में आज दूसरे दिन सर्वे का काम होना था। हरिशंकर जैन और विष्णु जैन ज्ञानवापी मस्जिद के परिसर में प्रवेश करने गए थे लेकिन टीम को मस्जिद के अंदर नहीं जाने दिया गया।

उनके साथ वीडियोग्राफर और फोटोग्राफर को भी मस्जिद परिसर में घुसना पड़ा। सर्वे टीम बिना सर्वे किए ही लौट गई।

इससे पहले काशी विश्वनाथ धाम गेट नंबर पर हिंदू पक्ष के वकीलों के साथ बड़ी संख्या में सुरक्षाकर्मी भी मौजूद थे। मुस्लिम पक्ष के वकील ने बयान दिया कि हम अभी तक सर्वेक्षण में सहयोग नहीं करेंगे क्योंकि तारीख सुनवाई आगे है।

कोर्ट कमिश्नर बदलने पर 9 मई को सुनवाई

गौरतलब है कि प्रतिवादी अंजुमन इंतजामियां मस्जिद कमेटी की ओर से कोर्ट कमिश्नर को हटाने की मांग करने वाले याचिकाकर्ता को सिविल जज सीनियर डिवीजन की अदालत में पेश किया गया था।

लेकिन इस मामले में कोर्ट कमिश्नर को फिलहाल नहीं बदला जाएगा और 9 मई को सुनवाई होगी। मुस्लिम पक्ष का आरोप है कि कोर्ट कमिश्नर कि ओर से पक्षपात किया जा रहा है।

आवेदन में मांग की गई थी कि माननीय न्यायालय आयुक्त अजय कुमार मिश्रा को हटाकर उनके स्थान पर स्वयं को या किसी अन्य वरिष्ठ अधिवक्ता को नियुक्त करे, ताकि निष्पक्ष न्याय हो सके।

कोर्ट ने इस मामले में नौ मई की तारीख तय की है। कोर्ट ने सर्वे रोकने का कोई आदेश नहीं दिया है। कोर्ट कमिश्नर को हटाने की मुस्लिम पक्ष की अर्जी पर सुनवाई के बाद सर्वे का काम जारी किया गया और अजय मिश्रा सर्वे कर रहे थे लेकिन टीम को मस्जिद के अंदर नहीं जाने दिया गया।

कल मस्जिद के बाहर किया गया सर्वे

एडवोकेट कमिश्नर के नेतृत्व में एक टीम ने शुक्रवार को कोर्ट के आदेश पर वाराणसी के ज्ञानवापी और श्रृंगार गौरी परिसर में ज्ञानवापी मस्जिद के बाहर कुछ हिस्सों का वीडियोग्राफी-सर्वेक्षण किया।

काशी विश्वनाथ धाम-ज्ञानवापी स्थित श्रृंगार गौरी व अन्य देवी-देवताओं की वीडियोग्राफी व सर्वे के कार्य के लिए स्थानीय अदालत के आदेश पर अधिवक्ता आयुक्त अजय कुमार मिश्रा व वादी के कई लोग ज्ञानवापी पहुंचे थे।

काम शुरू होने से पहले ज्ञानवापी में जुमे की नमाज अदा करने के लिए बड़ी संख्या में लोग जमा हो गए थे। उन्होंने बताया कि इस दौरान कुछ शरारती तत्व नारेबाजी करने लगे।

हालांकि पुलिस ने नारेबाजी कर रहे लोगों को खदेड़ दिया। इस दौरान काशी विश्वनाथ धाम-ज्ञानवापी के आसपास की दुकानें बंद रहीं।

Also Read