How to Make Unique Health ID Card | यूनिक डिजिटल हेल्थ आईडी कार्ड के हैं बड़े फायदे, जानिए कैसे बनाएं हेल्थ आईडी कार्ड

227
Health ID Card: Unique digital health ID card has big benefits, know how to make health ID card

Health ID Card Apply Online : यूनिक हेल्थ आईडी कार्ड (Unique Health ID) आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन (Ayushman Bharat Digital Mission) का हिस्सा है। 

इस कार्ड की मदद से देश भर के चुनिंदा अस्पतालों में इलाज कराने की सुविधा उपलब्ध है। यूनिक हेल्थ आईडी कार्ड आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन (ABDM) का एक हिस्सा है।

डिजिटल हेल्थ मिशन के तहत सरकार हर व्यक्ति के लिए एक यूनिक हेल्थ कार्ड बना रही है। डिजिटल हेल्थ कार्ड आधार कार्ड की तरह ही एक डिजिटल कार्ड।

हेल्थ कार्ड में आधार कार्ड की तरह इसमें आपको एक नंबर मिलेगा। इस कार्ड में आपकी सेहत से जुड़ी पूरी जानकारी दर्ज होगी।

इससे डॉक्टर आपके संपूर्ण स्वास्थ्य रिकॉर्ड तक जा सकते हैं। यानी इस कार्ड के जरिए किसी भी मरीज की मेडिकल हिस्ट्री का पता लगाया जा सकता है।

हेल्थ आईडी कार्ड के लाभ (Benefits of Health ID Card)

अनोखा हेल्थ कार्ड एक तरह से आपकी सेहत का राशिफल होता है, जिसे देखकर आपको पता चल जाएगा कि आपकी बीमारी का इलाज कहां और कहां हुआ है।

पहले किन डॉक्टरों से सलाह ली गई और कौन सी दवाएं दी गई हैं? इससे मरीज को फाइल हर जगह अपने साथ नहीं रखनी पड़ेगी।

डॉक्टर या अस्पताल मरीज की यूनिक हेल्थ आईडी देखकर उसकी स्थिति जान सकेंगे और फिर इसी आधार पर आगे का इलाज शुरू किया जा सकेगा.

यूनिक हेल्थ कार्ड से व्यक्ति को सरकारी योजनाओं के बारे में भी पता चलेगा। आयुष्मान भारत के तहत मरीज को इलाज की सुविधा का लाभ मिलता है या नहीं, ये इस अनोखे कार्ड के जरिए पता चलेगा.

आपका स्वास्थ्य रिकॉर्ड (Your Health Record)

यूनिक हेल्थ आईडी कार्ड में व्यक्ति का मोबाइल नंबर और आधार नंबर दर्ज किया जाएगा। इन दोनों रिकॉर्ड की मदद से एक अनोखा हेल्थ कार्ड बनेगा।

इसके लिए सरकार एक स्वास्थ्य प्राधिकरण बनाएगी, जो व्यक्तिगत डेटा एकत्र करेगी। जिस व्यक्ति का हेल्थ आईडी बनाया जाना है, उसका स्वास्थ्य रिकॉर्ड एकत्र करने की अनुमति स्वास्थ्य प्राधिकरण द्वारा दी जाएगी।

यूनिक हेल्थ आईडी कार्ड कैसे बनाएं (How to Make Unique Health ID Card)

अगर आप अपना हेल्थ आईडी कार्ड बनाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको www.healthid.ndhm.gov.in पोर्टल पर अपना रजिस्ट्रेशन कराना होगा।

आप अपने मोबाइल में एबीडीएम हेल्थ रिकॉर्ड्स ऐप भी डाउनलोड कर सकते हैं। इस ऐप से भी आप हेल्थ आईडी कार्ड के लिए अपना रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं।

इसमें आपको अपनी बेसिक जानकारी भरनी होगी और इसके साथ ही आपको अपना मोबाइल नंबर या आधार नंबर प्रमाणित करना होगा।

हेल्थ आईडी कार्ड जनरेट करते समय आधार अनिवार्य नहीं है। अगर आपके पास आधार कार्ड नहीं है या आप इसमें आधार का इस्तेमाल नहीं करना चाहते हैं तो सिर्फ मोबाइल नंबर से भी हेल्थ आईडी कार्ड बनाया जा सकता है.

स्वास्थ्य कार्ड के लिए आवेदन करें (Health ID Card Apply Online)

हेल्थ आईडी कार्ड बनाने के लिए आपको राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन-एनडीएचएम की वेबसाइट पर जाना होगा।
वेबसाइट पर क्रिएट योर हेल्थ आईडी के विकल्प पर क्लिक करें।

अगर आप आधार कार्ड से आईडी कार्ड बनाना चाहते हैं तो Generate by Aadhar पर क्लिक करें.
क्लिक करते ही आपसे आधार कार्ड नंबर डालने को कहा जाएगा।

  • साथ ही आपकी सहमति भी मांगी जाएगी।
  • अगर आप सहमत हैं तो मैं सहमत हूं पर क्लिक करके सबमिट करें।
  • सबमिट करने के बाद रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर 6 अंकों का ओटीपी भेजा जाएगा।
  • ओटीपी कोड को वेरीफाई करना होगा।
  • मोबाइल नंबर का भी सत्यापन करना होगा। आपको मोबाइल पर आए ओटीपी को दर्ज करना होगा।
  • मोबाइल पर एक और ओटीपी आएगा। इस ओटीपी कोड को डालकर एक बार फिर से वेरीफाई करें।
  • दूसरा मैसेज आपके 14 अंकों के हेल्थ आईडी नंबर के साथ आएगा।
  • आप मैसेज में दिए गए लिंक से लॉग इन कर सकते हैं।
  • इसके बाद आपसे नाम, जन्म का वर्ष जैसी सामान्य जानकारी मांगी जाएगी।
  • सारी जानकारी भरने के बाद सबमिट पर क्लिक करें। हेल्थ आईडी कार्ड जेनरेट होगा।