India vs South Africa 1st T20 : भारत-अफ्रीका के बीच आज दिल्ली में पहला मुकाबला, ऋषभ पंत करेंगे टीम इंडिया की नैय्या पार

40
IND vs SA: दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ ऋषभ पंत भारतीय टीम की अगुवाई करेंगे. . (PC-Twitter) India vs South Africa 1st T20

India vs South Africa 1st T20 | नई दिल्ली : भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच पांच मैचों की टी20 सीरीज का पहला मैच आज दिल्ली के अरुण जेटली स्टेडियम में खेला जाएगा। भारतीय टीम की अगुवाई ऋषभ पंत करेंगे।

भारतीय खेमा इस साल के अंत में ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 विश्व कप से पहले युवा खिलाड़ियों को परखने की कोशिश करेगा।

लोकेश राहुल को रोहित शर्मा की अनुपस्थिति में भारतीय टीम का नेतृत्व करना था, लेकिन उन्हें कमर की चोट के कारण बाहर कर दिया गया, जिससे वह पूरी श्रृंखला नहीं खेल पाएंगे।

भारत की नजर लगातार 13वीं जीत पर

पंत अगर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहली बार राष्ट्रीय टीम की कप्तानी करते हुए सीरीज का पहला मैच जीतने में कामयाब हो जाते हैं तो भारत भी लगातार 13वां टी20 जीतकर नया रिकॉर्ड कायम कर लेगा।

अब नए ‘लुक’ के साथ भारतीय शीर्ष क्रम अपना बेहतर प्रदर्शन दिखाना चाहेगा। राहुल के अचानक बाहर होने से ऋतुराज गायकवाड़ को मौका दिया जा सकता है।

लेकिन सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि गायकवाड़, ईशान किशन और श्रेयस अय्यर के साथ शीर्ष तीन रैंकिंग वाले भारतीय बल्लेबाजी क्रम एक नया ‘लुक’ देखेंगे।

जिससे मुख्य कोच राहुल द्रविड़ अक्टूबर में विश्व कप के लिए टीम को तैयार करने के लिए कुछ संयोजनों को आजमाने के लिए प्रेरित होंगे।

इसके लिए दक्षिण अफ्रीका से बेहतर प्रतिद्वंद्वी कोई नहीं हो सकता जिसने हाल के दिनों में अच्छा प्रदर्शन किया है।

पंत बतौर कप्तान पहली बार अंतरराष्ट्रीय सीरीज खेलेंगे।

पंत को भविष्य के लिए संभावित भारतीय कप्तान के दावेदारों में से एक माना जा रहा है और छोटे प्रारूपों में टीम का नेतृत्व करते हुए अपनी क्षमता साबित करने का इससे बेहतर मौका नहीं हो सकता है।

पंत ने कप्तान के तौर पर अपनी पहली अंतरराष्ट्रीय सीरीज से पहले कहा था, ”एक कप्तान के तौर पर इससे मुझे काफी मदद मिलेगी।

जब आप कुछ समय के लिए वही काम करते हैं तो आप उसमें सुधार करते हैं और उससे सीखते रहते हैं और मुझे लगता है कि इससे मुझे मदद मिलेगी.”

ईशान किशन के लिए बड़ा मौका, तीसरे नंबर पर खेलेंगे अय्यर

हालांकि, अगले 10 दिनों में मुख्य कोच द्रविड़ का लक्ष्य विशेष स्थानों के लिए कोर ग्रुप के कुछ खिलाड़ियों को ढूंढना होगा। राहुल की अनुपस्थिति से इशान किशन को शीर्ष क्रम पर अपनी निरंतरता दिखाने का मौका मिलेगा।

जो हाल ही में इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में मुंबई इंडियंस के लिए दिखाई नहीं दे रहा था। श्रेयस अय्यर को सूर्यकुमार यादव की गैरमौजूदगी में तीसरे नंबर पर उतारा जा सकता है।

लेकिन फार्म में चल रहे दीपक हुड्डा को भी नजरअंदाज नहीं किया जा सकता क्योंकि लखनऊ सुपर जायंट्स के लिए तीसरे नंबर पर उनका शानदार प्रदर्शन था।

फिनिशर की भूमिका निभाएंगे हार्दिक पांड्या

पंत के चौथे और नए उपकप्तान हार्दिक पांड्या के पांचवें स्थान पर जाने की उम्मीद है। हालांकि छठे स्थान पर हुड्डा और टीम में वापसी करने वाले दिनेश कार्तिक को मैदान में उतारा जा सकता है।

पंत अपनी लय हासिल करने की कोशिश करेंगे जबकि यह देखना दिलचस्प होगा कि क्या कार्तिक अपनी आईपीएल फॉर्म को बरकरार रख पाते हैं।

पंड्या ने आईपीएल में तीसरे और चौथे नंबर पर बल्लेबाजी की थी लेकिन वह यहां ‘फिनिशर’ की भूमिका में वापसी के लिए तैयार होंगे।

तेज गेंदबाजी विभाग की कमान भुवनेश्वर कुमार संभालेंगे

द्रविड़ ने कहा, “कभी-कभी आप राष्ट्रीय टीम में वही भूमिका निभाते हैं जो आप अपनी फ्रेंचाइजी टीम के लिए खेलते हैं लेकिन कभी-कभी भूमिकाएं बदल जाती हैं।”

भुवनेश्वर कुमार तेज गेंदबाजी विभाग का नेतृत्व करेंगे जिसमें उनके साथ ‘डेथ ओवर’ होंगे। विशेषज्ञ हर्षल पटेल। ये दोनों अपनी काबिलियत साबित करने की कोशिश करेंगे क्योंकि विश्व कप के लिए तेज गेंदबाजों में सिर्फ जसप्रीत बुमराह का चुना जाना तय है।

अक्षर पटेल होंगे स्पिन गेंदबाजी ऑलराउंडर

अवेश खान तीसरे तेज गेंदबाज की भूमिका निभाएंगे लेकिन अगर वह काम नहीं करते हैं तो अर्शदीप सिंह और उमरान मलिक को पदार्पण का मौका दिया जा सकता है।

बाएं हाथ के कलाई के स्पिनर कुलदीप यादव भी हाथ की चोट के कारण सीरीज से बाहर हो गए हैं। उन्हें यह चोट मंगलवार को ट्रेनिंग के दौरान लगी थी।

कुलदीप के चोटिल होने का मतलब भारत को उनकी और युजवेंद्र चहल की स्पिन जोड़ी को एक साथ गेंदबाजी करते देखने के लिए इंतजार करना होगा। अक्षर पटेल स्पिन गेंदबाजी ऑलराउंडर होंगे।

आसान नहीं होगा साउथ अफ्रीका की मजबूत टीम का सामना

विश्व कप चयन के लिए चोटिल रविंद्र जडेजा पर विचार किया जा रहा है और चहल को बाहर नहीं किया जा सकता है, रवि बिश्नोई को मजबूत प्रदर्शन के साथ अपने दावे को मजबूत करना होगा।

दक्षिण अफ्रीका ने 2010 के बाद से भारत में एक भी सीमित ओवरों की सीरीज नहीं हारी है और इस बार भी अपनी सर्वश्रेष्ठ टीम उतारी है।

दक्षिण अफ्रीका के लिए शानदार फॉर्म में चल रहे डेविड मिलर, क्विंटन डी कॉक और एडेन मार्कराम की भूमिका अहम होगी।

गेंदबाजी विभाग में, वह तबरेज़ शम्सी और केशव महाराज की स्पिन जोड़ी और कगिसो रबाडा और एनरिक नोर्किया की तेज जोड़ी पर बहुत अधिक ध्यान केंद्रित करेंगे।

टीम इस प्रकार हैं

भारत : ऋषभ पंत (कप्तान और विकेटकीपर), रुतुराज गायकवाड़, इशान किशन, दीपक हुड्डा, श्रेयस अय्यर, दिनेश कार्तिक, हार्दिक पंड्या (उप कप्तान), वेंकटेश अय्यर, युजवेंद्र चहल, अक्षर पटेल, रवि बिश्नोई, भुवनेश्वर कुमार, हर्षल पटेल, आवेश खान, अर्शदीप सिंह, उमरान मलिक.

दक्षिण अफ्रीका: तेम्बा बावुमा (कप्तान), क्विंटन डिकॉक (विकेटकीपर), रीजा हेंड्रिक्स, हेनरिक क्लासेन, केशव महाराज, एडेन मार्कराम, डेविड मिलर, लुंगी एनगिडी, एनरिच नोर्किया, वेन पार्नेल, ड्वेन प्रिटोरियस, कैगिसो रबाडा, तबरेज़ शम्सी, ट्रिस्टन स्टब्स, रासी वान डेर डूसन, मार्को यानसेन.