Journalist of India बदलाव चाहता है।

0
220

आज देश बदल रहा है लेकीन आम आदमी के हालात नही बदल रहे हैं। आम आदमी अपनी मेहनत की कमाई से दो चार रुपये खर्च करके अखबार खरीदता है, खबर पढता है। लेकीन खबरोंपर विश्‍वास नही कर पा रहा है। हर खबर बिकाऊ है, यह उसकी धारणा बन चुकी है। अखबार हो या न्युज चॅनल हर खबर पेड, फेक और बिकाऊ लगी रही है। अखबार और न्युज चॅनल के मालिक सरकार को खुश करने के लिए खबरें चला रहे हैं। किसी भी खबर विश्‍वास करना आम आदमी के लिए मुश्किल हो रहा है, और यही लोकतंत्र की बिडंबना है।

आज न्युज चॅनल अपना मानसिक संतुलन खो चुके हैं। न्युज चॅनल के डिबेट शो समाज के मन में जहर घोल रहे हैं। हर न्युज चॅनल अपना अपना अजेंडा दर्शकोंपर जबरन थोप रहा है। सुशांत, रिया, दिपिका, बॉलीवुड देश के अहम मुद्दे बन चुके है। लेकीन कहीं बाढ तो कहीं सुखे से परेशान किसान और उसके उजडे घर किसी भी अखबार और न्युज चॅनल की हेडलाईन नही है। समाज और देश एक अंधेरे की ओर बढ रहे हैं, लेकीन इसकी खबर नही बन पा रही है।

लोकतंत्र का सबसे विश्‍वसनीय स्तंभ पत्रकारीता होता है, लेकीन आज आम आदमी का इस स्तंभ से विश्‍वास उठ रहा है। एक खबर का असर सारे समाजपर होता है। एक खबर से सरकार बदलती है, लेकीन आज हर खबरपर सवाल लग रहा है। आम आदमी सरकार से सवाल नही कर सकता, इसिलिए अखबार की खबर आम आदमी की आवाज होती है। लेकीन इस आवाज को दबाने की कोशिश की जा रही है। सरकार आम आदमी को वही खबर दिखा रही है, जो सरकार दिखाना चाहती है। हर अखबार और न्युज चॅनल वही खबरें चला रहे है, जिससे सरकार को खुशी हो रही है।

इसिलिए देश और समाजहित के लिए लढनेवाले जिगरबाज पत्रकार और पत्रकारीता को समर्पित journalistofindia.com बदलाव चाहता है। मंच है। देश के बदलते हालात में पत्रकारीता और समाज में आपसी विश्‍वास जिंदा रखने का प्रयास है। हर खबर बिकाऊ नही है, हर पत्रकार सरकार का दरबारी पत्रकार नही है। यह विश्‍वास कायम रखने के लिए journalistofindia.com बदलाव चाहता है। प्रयास कर रहा है। आम आदमी का विश्‍वास खबरोंपर बना रहे इसिलिए देश की हर खबरपर हमारी नजर होगी, आम आदमी का विश्‍वास बना रहे इसिलिए हर खबर सही और सटीक होगी।

केवल सरकार की आलोचना करना हमारा उद्देश नही है। हमारे लिए देश, समाज और राष्ट्रहित सर्वोतोपरी है। सरकार का हर निर्णय गलत नही होता, और सही नही होता। सही को सही और गलत को गलत कहने का साहस ही पत्रकार की जिम्मेदारी है। हर खबर आम आदमी के हित में होगी। फेक न्युज, पेड न्युज और राष्ट्रविरोधी ताकतों का journalistofindia.com बदलाव चाहता है। कभी समर्थन नही करेगा। हर खबर आम आदमी की होगी और देशहित में होगी। देश बदल रहा और हम आम आदमी के जीवन बदलाव चाहते है। journalistofindia.com बदलाव चाहता है। आम आदमी के हित में समर्पित है, आपका सहयोग बना रहे .. धन्यवाद!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here