Kisan Diwas 2021 : किसान दिवस 23 दिसंबर को ही क्यों मनाया जाता है? जानिए इस दिन का महत्व

247
Why is Farmer's Day celebrated on 23rd December? Know the importance of this day

Kisan Diwas 2021: देश में आज किसान दिवस 2021 मनाया जा रहा है। यह विशेष दिन हर साल भारत के पांचवें प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह की जयंती के अवसर पर मनाया जाता है। 

चौधरी चरण सिंह ने अपने कार्यकाल के दौरान कृषि क्षेत्र के उत्थान में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। इसके साथ ही किसानों के जीवन और दशाओं को सुधारने के लिए कई नीतियां शुरू की गईं।

इसी कारण से वर्ष 2001 में भारत सरकार ने चौधरी चरण सिंह के जन्मदिन को हर साल 23 दिसंबर को किसान दिवस के रूप में मनाने का फैसला किया।

चौधरी चरण सिंह का जन्म 23 दिसंबर 1902 को उत्तर प्रदेश के हापुड़ जिले में हुआ था। वह एक किसान परिवार से ताल्लुक रखते थे और किसानों की समस्याओं को अच्छी तरह समझते थे।

किसान दिवस कृषि क्षेत्र की नवीनतम सीख के साथ समाज के किसानों को सशक्त बनाने का विचार देता है। किसान दिवस किसानों को उनके सामने आने वाली विभिन्न समस्याओं के बारे में शिक्षित करने का काम करता है।

यह महत्वपूर्ण दिन देश में किसानों के महत्व और देश के समग्र आर्थिक और सामाजिक विकास के बारे में लोगों में जागरूकता को बढ़ावा देने के लिए मनाया जाता है।

माना जाता है कि चौधरी चरण सिंह ने सर छोटू राम की विरासत को आगे बढ़ाया। उन्होंने देश में किसानों के मुद्दों के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए 23 दिसंबर 1978 को किसान ट्रस्ट का भी गठन किया।

चौधरी चरण सिंह ने भी किसान सुधार के बिल पेश कर देश के कृषि क्षेत्र में अग्रणी भूमिका निभाई थी। भारत के तत्कालीन प्रधान मंत्री चौधरी चरण सिंह को किसानों के मसीहा के रूप में भी जाना जाता है।

उन्होंने हमेशा किसानों के हक के लिए लड़ाई लड़ी और खड़े रहे। आज किसान भारत के आर्थिक विकास की रीढ़ माने जाते हैं।