LIC IPO : क्या लंबी अवधि के निवेश के लिए LIC IPO अच्छा रहेगा? इसे लेने के पीछे जानिए पांच बड़े कारण

46
(LIC IPO)

LIC IPO : लंबे इंतजार के बाद देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी एलआईसी (Life Insurance Corporation) का आईपीओ बुधवार से खुदरा निवेशकों के लिए खुल रहा है।

इस तरह एलआईसी देश के इतिहास के सबसे बड़े आईपीओ के साथ शेयर बाजार में उतरने जा रही है। एलआईसी के आईपीओ के लिए खुदरा निवेशक लॉट-बाय-लॉट की बोली लगा सकते हैं, जो 9 मई तक खुला रहेगा।

ग्रे मार्केट में इसे लेकर सकारात्मक संकेत भी मिल रहे हैं। एलआईसी के आईपीओ का प्राइस बैंड 902-949 रुपये प्रति इक्विटी शेयर है।

विश्लेषक एलआईसी के आईपीओ को लेकर भी उत्साहित हैं क्योंकि उन्हें लगता है कि यह लंबी अवधि के निवेश के लिए एक बेहतर विकल्प है। आइए जानते हैं एलआईसी के आईपीओ को लेकर बाजार के जानकार क्या सोचते हैं?

  1. आकर्षक मूल्यांकन: कनिका अग्रवाल, सह-संस्थापक और सीआईओ, अपसाइड एआई कहती हैं, ”एलआईसी का आईपीओ मूल्य बहुत आकर्षक है।

चूंकि सरकार ने मूल्यांकन 50 प्रतिशत घटाकर ₹6 लाख करोड़ कर दिया है, इसका मूल्यांकन लगभग ₹5.4 लाख करोड़ के एम्बेडेड मूल्य के लिए 1.1x पर उचित है। निजी बीमाकर्ता 2.5-4x पर व्यापार करते हैं।”

2. सबसे बड़ा एसेट मैनेजर: नरेंद्र सोलंकी, हेड-इक्विटी राइजर्स, आनंद राठी शेयर्स एंड स्टॉक ब्रोकर्स कहते हैं, “30 सितंबर 2021 तक, एलआईसी भारत का सबसे बड़ा एसेट मैनेजर था, जिसके पास 39.55 ट्रिलियन डॉलर की एसेट अंडर मैनेजमेंट (एयूएम) थी।

यह भारत में सभी निजी जीवन बीमा कंपनियों के संयुक्त एयूएम के 3.3 गुना से अधिक और पूरे भारतीय म्यूचुअल फंड उद्योग के एयूएम के 1.1 गुना से अधिक था। सूचीबद्ध शेयरों में एलआईसी का निवेश 21 सितंबर को एनएसई के कुल बाजार पूंजीकरण का लगभग 4% था।”

3. निवेश से लाभ: बाजार विशेषज्ञों का मानना ​​है कि एलआईसी लाभांश भुगतान करने वाले शेयरों में से एक होगा, जो किसी के निवेश से लाभ का एक और तरीका हो सकता है।

4. मार्केट लीडरशिप: भारतीय जीवन बीमा निगम को निजी बीमा कंपनियों से कड़ी प्रतिस्पर्धा का सामना करना पड़ रहा है, फिर भी यह अभी भी एक मार्केट लीडर है।

चूंकि बीमा क्षेत्र की भारतीय आबादी के बीच कम पैठ है, इसलिए पहले से ही बाजार में अग्रणी एलआईसी के लिए यह एक और बड़ा अवसर होने की उम्मीद है।

5. लॉन्ग टर्म आउटलुक: भारत में बीमा का मतलब एलआईसी है और यह ब्रांड वैल्यू के मामले में भारी लाभ प्रदान करता है।

स्वस्तिक इंवेस्टमेंट्स लिमिटेड के रिसर्च हेड संतोष मीणा कहते हैं, “एलआईसी आईपीओ ग्राहकों को यह जानने की जरूरत है कि बीमा का व्यवसाय दीर्घकालिक है, इसलिए हम इसको केवल लॉन्ग टर्म के लिए सुझाव देते हैं और पॉलिसीधारकों को दी गई छूट के कारण इसका लाभ उठाना चाहिए।