प्यार, शादी और दर्दनाक अंत : पत्नी को मायके से होटल में बुलाया, हत्या के बाद पति फरार

212
PUBG Murder: child cannot kill mother, team said after questioning; Doubt raised by these questions and answers

गाज़ियाबाद : गाजियाबाद के खोड़ा इलाके के एक होटल में सोमवार को एक युवक ने अपनी पत्नी की हत्या कर दी। आरोपी ने 2 दिन पहले होटल में किराए पर कमरा लिया था।

इस दौरान उसने मायके में रहने वाली पत्नी को मिलने के लिए होटल बुलाया और फिर उसका गला रेत कर फरार हो गया।

होटल प्रबंधन की सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है और आरोपियों की तलाश में कई टीमें लगा दी गई हैं।

मूल रूप से दिल्ली के संतनगर बुराड़ी की रहने वाली 26 वर्षीय प्रियंका की शादी करीब तीन साल पहले हापुड़ जिले के बहादुरगढ़ निवासी अर्जुन से हुई थी। शादी के बाद प्रियंका बेटी को जन्म दिया, जो अब देढ साल कि है।

पिछले एक साल से पति-पत्नी के बीच किसी बात को लेकर विवाद चल रहा था, जिसके चलते प्रियंका करीब एक साल से दिल्ली में अपने मायके में रह रही थी।

होटल में झगड़ा

शनिवार दोपहर अर्जुन ने खोड़ा के एक होटल में किराए पर कमरा लिया और रहने लगा। सोमवार सुबह करीब 10 बजे अर्जुन ने पत्नी प्रियंका को बात करने के लिए होटल में बुलाया था।

इस दौरान किसी बात पर दोनों के बीच कहासुनी हो गई और फिर अर्जुन ने प्रियंका को चाकू से गोद लिया और उसका गला रेत कर फरार हो गए। होटल प्रबंधन की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस घटना के बाद से फरार अर्जुन की तलाश कर रही है।

बहन ने लगाए गंभीर आरोप

घटना को लेकर प्रियंका की बहन चंचल ने बताया कि करीब ढाई साल पहले प्रेम विवाह करने के जिदपर उनकी शादी हुई थी। शादी के बाद दोनों हापुड़ में रहने लगे और कुछ दिनों बाद दोनों खोड़ा में किराए पर रहने लगे।

आरोप है कि इस दौरान अर्जुन ने बिजली का करंट लगाकर प्रियंका को मारने की कोशिश की, जिससे दोनों ने घर के पास बुराड़ी में किराए पर कमरा लिया और अर्जुन को पास स्थित एक पेट्रोल पंप पर काम पर रख लिया। चंचल का आरोप है कि दहेज के लिए उसकी बहन की हत्या की गई है।

2 दिन पहले ही होटल में किराये पर लिया था कमरा

पुलिस जांच के दौरान यह बात सामने आई है कि आरोपी अर्जुन ने 8 जनवरी की दोपहर करीब 2 बजे होटल में किराए पर कमरा लिया था और तब से वहीं रह रहा था।

थाना प्रभारी बृजेश कुशवाहा ने बताया कि प्रियंका को सुबह करीब साढ़े नौ बजे होटल में बुलाया गया और करीब साढ़े दस बजे हत्या के बाद जैसे ही आरोपी होटल से निकलने लगा तो होटल व्यवसायियों ने हिसाब करने को कहा, लेकिन वह कुछ समय बाद आया।

हिसाब लगाने को कहा तो वह भाग गया। शक होने पर होटल स्टाफ उसके कमरे में पहुंचा तो प्रियंका बाथरूम में खून से लथपथ पड़ी थी। इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। तब तक प्रियंका की मौत हो चुकी थी।

भाई अनुजने दी रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए तहरीर

प्रियंका की हत्या के मामले में उसके भाई अनुज ने थाने में तहरीर देकर रिपोर्ट दर्ज करायी है। तहरीर के आधार पर पुलिस ने हत्या की रिपोर्ट दर्ज कर आरोपी की गिरफ्तारी के प्रयास शुरू कर दिए हैं। होटल प्रबंधन द्वारा कमरा लेने वाले व्यक्ति के आधार कार्ड की फोटोकॉपी दिखाने पर पता चला कि अर्जुन ने अपराध किया है।

होटल में सीसीटीवी कैमरे नहीं हैं

घटना की सूचना पाकर जब पुलिस मौके पर पहुंची तो प्रियंका और अर्जुन के आने का सही समय जानने के लिए सीसीटीवी कैमरों की तलाशी ली तो पता चला कि होटल में सीसीटीवी कैमरे नहीं लगे हैं। हालांकि होटल के रजिस्टर के आधार पर पुलिस को दोनों के आने का समय पता चल गया और फिर छानबीन शुरू की।

9 जनवरी को प्रियंका का जन्मदिन था

महिला की हत्या के मामले में मौके पर पहुंची पुलिस ने अर्जुन और प्रियंका के आधार कार्ड बरामद किए हैं। जिसके आधार पर पता चला कि 9 जनवरी को प्रियंका का जन्मदिन था।

आशंका है कि आरोपी प्रियंका को उसके जन्मदिन पर आमंत्रित करना चाहता था, जिसके चलते उसने एक दिन पहले ही कमरा किराए पर लिया था। हालांकि पुलिस अधिकारी अभी इस बारे में कोई जानकारी होने से इनकार कर रहे हैं।