Agneepath Scheme : युवाओं के लिए खुलेंगे करियर के नए रास्ते | अग्निपथ योजना के विरोध के बाद सरकार ने जारी की सफाई

24
Agneepath Scheme

Agneepath Scheme | नई दिल्ली: सेना में भर्ती की नई योजना अग्निपथ को लेकर देशभर में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। इस बीच केंद्र सरकार ने स्पष्टीकरण जारी कर अग्निपथ योजना की आलोचना को खारिज कर दिया है।

सरकार ने कहा है कि नया मॉडल युवाओं के हित में है। इससे सशस्त्र बलों के लिए नई क्षमताओं के रास्ते खुलेंगे। सेना में कार्यरत युवाओं के लिए करियर के नए रास्ते खुलेंगे।

योजना पर उठाई गई चिंताओं को दूर करने के लिए ‘मिथ वर्सेज फैक्ट्स’ दस्तावेज जारी किया गया है। सरकार की ओर से कहा गया है कि अग्निपथ योजना पर फैलाए जा रहे झूठ से सावधान रहें।

भ्रम फैलाने वाले पूछ रहे हैं कि रोजगार चार साल के लिए ही मिलेगा। चार साल बाद भविष्य का क्या होगा? पेंशन भी नहीं मिलेगी। 10-12 लाख रुपए में कैसे गुजरेगी जिंदगी। सेना अनुभवहीन हो जाएगी।

सेना में भर्ती होने का सपना होगा साकार

सरकार की ओर से योजना के पक्ष में कई बातें कही गई हैं। कहा गया है कि इससे युवाओं का सेना में भर्ती होने का सपना साकार होगा, दिल में देशभक्ति जगेगी।

बेरोजगार युवाओं को मिलेगा 4 साल का अनुभव 4 साल बाद अन्य नौकरियों के अवसर मिलेंगे। पुलिस और अन्य संबंधित सेवाओं में वरीयता दी जाएगी।

केंद्र सरकार सीएपीएफएस और असम राइफल्स में अग्निवीरों को प्राथमिकता देगी। विभिन्न राज्य सरकारें अपने-अपने राज्यों में सरकारी नौकरियों को प्राथमिकता देंगी।

नौकरी के दौरान तकनीकी प्रशिक्षण, डिप्लोमा और पढ़ाई के अवसर प्राप्त होंगे। इससे कॉरपोरेट जगत में नौकरी पाने में आसानी होगी।

25% अग्निशामकों को स्थायी सेवा का अवसर मिलेगा। 11.71 लाख का सर्विस फंड 4 साल बाद मिलेगा। इस पैसे से युवा आगे की पढ़ाई कर सकेंगे या अपना खुद का व्यवसाय शुरू कर सकेंगे।

सेना के प्रशिक्षण से युवाओं में संयम और अनुशासन की भावना पैदा होगी। युवा स्वास्थ्य और फिटनेस के प्रति जागरूक रहेंगे।

सेना की औसत आयु 32 से घटाकर 26 कर दी जाएगी। सेना में युवा जोश और सोच होगी। सेना की ताकत में इनोवेशन होगा। युवाओं के तकनीकी कौशल का लाभ सेना को मिलेगा।

4 साल बाद अग्निवीर क्या करेंगे?

  • 4 साल के अनुशासित और स्किल्ड जीवन के बाद 24 साल की उम्र का व्यक्ति अन्य युवाओं की तुलना में नौकरी पाने के लिए बेहतर विकल्प होगा।
  • 4 साल बाद गृह मंत्रालय ने योग्य अग्निवीरों को सीएपीएफएस और असम राइफल्स में भर्ती में प्राथमिकता देने का बात कही है।
  • 4 में से 1 को पक्की नौकरी मिलेगी।
  • कितने लोगों के पास 21-24 साल की उम्र में 12 लाख रुपए की जमा पूंजी होती है?
  • 4 साल बाद अग्निवीरों को कई बड़ी कंपनियों ने अपने यहां जॉब देने का ऐलान किया है।
  • 4 साल में अग्निवीरों के लिए ग्रेजुएशन डिग्री कोर्स शुरू होगी। इसे देश और विदेश में मान्यता मिलेगी।
  • 21-24 साल की आयु में लगभग 20 लाख की राशि जोड़ सकेंगे। 4 साल में 7-8 लाख रुपए जमा होंगे और 12 लाख रुपए केंद्र सरकार देगी।
  • कई राज्य सरकार जैसे – उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, उत्तराखंड, हरियाणा और असम ने अग्निवीरों को सेवा के बाद पुलिस और पुलिस के सहयोगी बलों में भर्ती में प्राथमिकता देने की बात कही है।

Also Read