Big Update : आरबीआई का फैसला, 2000 का नोट बंद, जानिए पूरी बात

16
RBI's decision, 2000 note closed, know whole thing

Big Update : आपने देखा होगा कि आजकल बाजार में 2000 रुपये का नोट काफी कम देखने को मिल रहा है. आपके मन में भी यह सवाल जरूर उठ रहा होगा कि आखिर बाजार से दो हजार के नोट क्यों गायब हो रहे हैं।

दो हजार के नोट को लेकर एक बड़ी जानकारी सामने आई है। जिसे जानकर आप भी हैरान रह जाएंगे। एक आरटीआई के जवाब के मुताबिक, भारतीय रिजर्व बैंक ने पिछले दो सालों में 2,000 रुपये का एक भी नोट नहीं छापा है। जी हां, पिछले 2 साल में एक भी 2 हजार का नोट नहीं छापा गया है.

आरबीआई के तहत काम करने वाले रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया नोट मुद्रान से प्राप्त एक आरटीआई जवाब में यह खुलासा हुआ है।

RTI के मुताबिक साल 2019-20, 2020-21 और 2021-22 में 2,000 रुपये के नोटों की छपाई नहीं हुई है. आरटीआई के जवाब से संकेत मिलता है कि आरबीआई ने 2000 के नोट को बंद कर दिया है।

भारतीय रिजर्व बैंक नोट मुद्रण ने खुलासा किया है कि उसने वित्तीय वर्ष 2016-17 में 2,000 रुपये मूल्यवर्ग के 3,542.991 मिलियन नोट छापे थे।

जबकि साल 2017-18 में इससे कम यानी 111.507 करोड़ 2000 रुपये के नोट छापे गए। इसके बाद वर्ष 2018-19 में इसकी संख्या और कम होकर 46.690 मिलियन हो गई।

आपको बता दें कि 2,000 रुपये का नोट भारत में सबसे अधिक मूल्यवर्ग की मुद्रा है। 8 नवंबर 2016 को सरकार ने 500 और 1,000 रुपये के पुराने नोटों को बंद कर दिया था।

बदले में, केंद्रीय बैंक ने 2,000 रुपये का एक नया नोट पेश किया। आपको यह भी बता दें कि हाल ही में सरकार ने संसद में एक जवाब में कहा था कि, एनसीआरबी के आंकड़ों के मुताबिक देश में जब्त किए गए 2,000 रुपये के नकली नोटों की संख्या 2016 से 2020 के बीच 2,272 से बढ़कर 2,44,834 हो गई है।