LIC के IPO को ऐसे करें सब्सक्राइब | LIC का IPO कोई भी खरीद सकता है, उसके लिये क्या करना होगा, पुरी जानकारी

69
LIC का IPO कोई भी खरीद सकता है

देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी एलआईसी का आईपीओ आने वाला है। सरकार कुछ कानूनी प्रावधान करने के बाद एलआईसी का आईपीओ लाएगी। एलआईसी का आईपीओ कोई भी खरीद सकता है।

इसके लिए डीमैट अकाउंट होना जरूरी है। डीमैट के बिना शेयर उपलब्ध नहीं होंगे। बाजार नियामक सेबी पहले ही यह नियम बना चुका है, जिसमें शेयरों को इलेक्ट्रॉनिक रूप से ही खरीदा जा सकता है। एलआईसी का आईपीओ अगले साल आने की उम्मीद है।

खाता कैसे खोलें

इसके लिए आपको किसी ब्रोकरेज हाउस में अकाउंट खोलना होगा। बैंक डीमैट खाते की सुविधा भी प्रदान करते हैं। फिर यह डीमैट अकाउंट आपके बैंक अकाउंट से लिंक हो जाएगा।

आईपीओ खुलने पर आप इसकी सदस्यता ले सकते हैं। हालांकि, इसमें काफी फिक्स शेयर हैं। इससे न सिर्फ आईपीओ बल्कि म्यूचुअल फंड और सोना भी खरीद सकेंगे।

फिच ने बताया फायदा

इस बीच फिच रेटिंग्स का मानना ​​है कि एलआईसी के प्रस्तावित आईपीओ से देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी की जवाबदेही और पारदर्शिता में सुधार होगा।

फिच रेटिंग्स ने कहा कि एलआईसी के आईपीओ से पूरे बीमा उद्योग को फायदा होगा। फिच ने कहा कि इससे संभवत: पूरे बीमा उद्योग को फायदा होगा।

निजी बीमा कंपनियां

उद्योग अधिक विदेशी धन को आकर्षित करने में सक्षम होंगे, जिससे देश में विदेशी पूंजी का प्रवाह भी बढ़ेगा। फिच ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि एक बार एलआईसी का आईपीओ आने के बाद कुछ निजी क्षेत्र की बीमा कंपनियों को भी अपने शेयरों को अंतराल पर शेयर बाजार में सूचीबद्ध करने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा।

बजट में घोषणा

हालांकि, सभी बीमा कंपनियों के लिए मौजूदा नियमों के तहत सूचीबद्ध होना अनिवार्य नहीं है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 2020-21 के अपने बजट भाषण में घोषणा की थी कि एलआईसी को सरकार की विनिवेश पहल के तहत सूचीबद्ध किया जाएगा।

सरकार की 100% हिस्सेदारी

फिलहाल एलआईसी में सरकार की 100 फीसदी हिस्सेदारी है। फिच ने कहा कि सार्वजनिक रूप से एलआईसी को और अधिक सख्त प्रकटीकरण नियमों को पूरा करना होगा। यह कंपनी के भीतर अनुपालन और जवाबदेही की एक मजबूत प्रवृत्ति पैदा करेगा।