Tech News : अमेरिकी कंपनी ने बनाया विशेष कैप्सूल, सूटकेस के जरिए अंतरिक्ष से पहुंचाया जाएगा सामान

117
Tech News: American company made special capsule, luggage will be transported from space through suitcase

Tech News : अमेरिका की एक स्टार्टअप कंपनी ने ऐसा खास स्पेस कैप्सूल बनाया है, जो बाहरी अंतरिक्ष से दुनिया के कोने-कोने तक सामान पहुंचाने का काम करेगा।

इस तकनीक में दुनिया में माल की डिलीवरी के मैकेनिज्म और सप्लाई चेन के मैकेनिज्म में बड़ा बदलाव लाने की क्षमता है।

अमेरिका की ‘इनवर्जन स्पेस’ नाम की कंपनी के मुताबिक यह अपने नए स्पेस कैप्सूल के जरिए दुनिया में कहीं से भी अंतरिक्ष से सामान पहुंचा सकती है।

लॉस एंजेलिस की इस स्टार्टअप कंपनी ने साल 2021 में 10 मिलियन डॉलर जुटाए हैं। इससे वह अंतरिक्ष से पृथ्वी पर सामान लाने के लिए रीएंट्री कैप्सूल विकसित कर सके।

कंपनी वाणिज्यिक और रक्षा उद्योगों (Commercial and Defense Industries)  के लिए इस वापसी वाहन का निर्माण करना चाहती है, जो वैश्विक आपूर्ति वितरण के साथ-साथ आपूर्ति और अंतरिक्ष स्टेशन से वापस आने में मदद कर सकता है।

यह पुन: उपयोग (Reusable) कैप्सूल अंतरिक्ष से कई बार यात्रा करने के साथ-साथ अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन तक सामान पहुंचाने में सक्षम होगा।

कंपनी को उम्मीद है कि सार्वजनिक और निजी दोनों क्षेत्रों से मांग बढ़ेगी और कैप्सूल किसी भी प्रकार के वाणिज्यिक वाहन को लॉन्च करने में सक्षम होगा।

नासा इस तरह के प्रयासों को बढ़ावा देने के लिए अनुसंधान और निजी क्षेत्र को बढ़ावा दे रहा है। पुन: उपयोग में आनेवाली कैप्सूल नए अंतरिक्ष बाजार में बहुत बड़ा योगदान दे सकते हैं।

फिलहाल कंपनी चार फीट व्यास का कैप्सूल विकसित करने पर काम कर रही है। इसमें इस साइज के सूटकेस में फिट होने वाला सामान ले जाया जा सकता है।

पैराशूट परीक्षण इस विशेष प्रकार के सूटकेस और इसके तंत्र के वर्ष 2025 तक विकसित होने की उम्मीद है। वर्तमान में, 1.5 फीट व्यास के कैप्सूल (रे) का परीक्षण किया जा रहा है।

यह एक तकनीकी प्रदर्शक के रूप में काम करेगा। कंपनी ने हाल ही में ‘रे’ का पैराशूट परीक्षण किया है, जिसमें एक तश्तरी जैसी वस्तु को 30,000 फीट की ऊंचाई से एक हवाई जहाज के माध्यम से गिराया गया था।

जब यह प्रणाली पूरी तरह से विकसित हो जाएगी, तो अंतरिक्ष यान ध्वनि की गति से 25 गुना तेज गति से पृथ्वी के बाहरी वातावरण से टकराएगा और सॉफ्टलैंडिंग के लिए पैराशूट का उपयोग करेगा।

कंपनी ने न्यूयॉर्क टाइम्स को बताया कि एक बार जब यह अपनी कक्षा में पहुंच जाता है, तो कैप्सूल या तो निजी वाणिज्यिक अंतरिक्ष स्टेशन के लिए अपना रास्ता खोज लेगा या अपनी कक्षा में ही रहेगा।

आने वाले समय में हजारों कंटेनर

इस कैप्सूल के लिए सौर ऊर्जा का इस्तेमाल किया जाएगा। कंपनी साल 2023 में छोटे कैप्सूल की तकनीक का प्रदर्शन करेगी।

कंपनी को उम्मीद है कि एक दिन वे भी हजारों कंटेनरों को पांच साल तक अंतरिक्ष में रखने में सक्षम होंगे। पृथ्वी से टकराने से कुछ घंटे पहले मिला एक क्षुद्रग्रह खगोलविदों ने पृथ्वी से टकराने से पहले एक छोटे से क्षुद्रग्रह को आकाश में घूमते देखा।

10 फीट चौड़ा यह एस्टेरॉयड 11 मील प्रति सेकेंड की रफ्तार से पृथ्वी की ओर बढ़ रहा था। हालांकि इससे कोई नुकसान नहीं हुआ है।

खगोलविदों के अनुसार, क्षुद्रग्रह या तो पूरी तरह से आकाश में जल गया होगा या आर्कटिक महासागर में गिर गया होगा।

हालांकि, कुछ लोगों ने 12 मार्च को आइसलैंड के ऊपर प्रकाश की चमक देखी। माना जाता है कि यह वही क्षुद्रग्रह था। 2022 EB5 पृथ्वी को प्रभावित करने से पहले पाया गया पांचवा क्षुद्रग्रह है।