Udaipur Murder: राजसमंद से गिरफ्तार दोनों आरोपित, उदयपुर में कई जगह लगा कर्फ्यू, धारा 144 भी लागू

63
Udaipur murder: Both accused arrested from Rajsamand, curfew imposed at many places in Udaipur, Section 144 also applied

Udaipur Murder: राजस्थान के उदयपुर में एक शख्स की हत्या ने सनसनी मचा दी है, युवक की हत्या का वीडियो बनाया गया था। युवक पर नुपुर शर्मा को सपोर्ट करने का आरोप है। हत्या के बाद से उदयपुर में तनाव है।

उदयपुर में इंटरनेट सेवा बंद लोगों ने सड़कों पर उतर कर प्रदर्शन किया है। सूत्रों के मुताबिक मोहम्मद रियाज और मोहम्मद गौस नाम के इन दोनों लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

दोनों को राजसमंद से गिरफ्तार किया गया है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि उदयपुर में युवक की हत्या के दोनों आरोपियों को राजसमंद से गिरफ्तार कर लिया गया है।

इस मामले में जांच मामला अधिकारी योजना के तहत की जाएगी और त्वरित जांच सुनिश्चित कर अपराधियों को अदालत में कड़ी सजा दी जाएगी, मैं फिर से सभी से शांति बनाए रखने की अपील करता हूं।

उदयपुर जिले के धनमंडी, घंटाघर, हाथीपोल, अंबामाता, सूरजपोल, भूपालपुरा और सवीना थाना क्षेत्रों में धारा 144 और कर्फ्यू लगा दिया गया है।

यह अगले आदेश तक प्रभावी रहेगा। गिरफ्तार आरोपी गौस मोहम्मद पुत्र रफीक मोहम्मद और रियाज पुत्र अब्दुल जब्बार दोनों उदयपुर के सूरजपोल इलाके के रहने वाले हैं.

इस बीच हर कोई इस घटना की निंदा कर रहा है। राज्यपाल कलराज मिश्र ने कहा कि उदयपुर की घटना अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण है।

राज्यपाल ने लोगों से सांप्रदायिक सद्भाव और शांति बनाए रखने की अपील की है और जिला प्रशासन को दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का निर्देश दिया है।

जिस कन्हैया लाल नाम के युवक की हत्या की गई है वो पेशे से से दर्जी था। उसकी हत्या करने आए दोनों आरोपी पूरा प्लान बना कर आए थे।

AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने ट्वीट किया कि उदयपुर में नृशंस हत्या निंदनीय है। ऐसी हत्या का बचाव कोई नहीं कर सकता।

हमारी पार्टी का मुसलसल स्टैंड यह है कि किसी को भी कानून अपने हाथ में लेने का अधिकार नहीं है। हमने हमेशा हिंसा का विरोध किया है।

हम अपनी सरकार से मांग करते हैं कि वे दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करें। कानून का राज कायम रखना होगा। एडीजी लॉ एंड ऑर्डर राजस्थान हवा सिंह घुमरिया ने कहा कि यह जनता के मन को झकझोरने वाली घटना है।

वीडियो के वायरल होने से मामला और भी संवेदनशील हो गया है। पूरे राज्य में हमने एसपी और आईजी को अपने-अपने इलाकों में गश्त बढ़ाने, अधिकारियों को ज्यादा से ज्यादा फील्ड में लाने को कहा है।

लंबे समय से वहां रह रहे एक डीआईजी को भेजा गया है। वहां अधिकारियों के साथ करीब 600 की पुलिस फोर्स भेजी गई है, रात तक कुछ और फोर्स भी भेजी जाएगी।

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि यह चिंता का विषय है. किसी को इस तरह मारना दुखद और शर्मनाक है। माहौल को ठीक करने की जरूरत है। पूरे देश में तनाव का माहौल है।

मैं बार-बार पीएम और गृह मंत्री को देश को संबोधित करने के लिए कहता हूं। पीएम को अपील करनी चाहिए कि हम किसी भी कीमत पर हिंसा बर्दाश्त नहीं करेंगे। सभी प्यार और भाईचारे के साथ रहें।

उदयपुर की यह घटना कोई मामूली घटना नहीं है, यह कल्पना से परे है कि कोई व्यक्ति ऐसा भी कर सकता है। हम चाहते हैं कि ऐसे समय में तनाव न पैदा हो, सभी को मिलजुल कर शांति से रहना चाहिए।

दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। पुलिस लगी हुई है, जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा। कोई कसर नहीं छोड़ेगा।उदयपुर नरसंहार के बाद लोग अपना विरोध दर्ज कराने के लिए सड़कों पर उतर आए।

घटना के बाद मालदास बाजार में दुकानें बंद कर दी गई हैं। कलेक्टर चांद मीणा ने कहा कि अपराधी की कोई जाति नहीं होती। कानून अपना काम कर रहा है और आरोपी के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी।

पीड़ित परिवार को यथासंभव सहायता प्रदान की जाएगी। इसके प्रावधानों के तहत कार्रवाई की जाएगी। पीड़ितों के परिजनों का आरोप है कि उन्होंने पुलिस से सुरक्षा मांगी लेकिन उन्हें सुरक्षा नहीं मिली।

Also Read