UP Election 2022 : तो क्या इस बार अयोध्या से लड़ेंगे सीएम योगी आदित्यनाथ?

321
UP Election 2022: So will CM Yogi Adityanath fight Ayodhya this time?

UP Election 2022 : चुनाव आयोग कभी भी यूपी में चुनाव की तारीखों का ऐलान कर सकता है. चुनाव की तारीखों की घोषणा से ठीक पहले योगी आदित्यनाथ फिर से अयोध्या जा रहे हैं।

इसलिए यह चर्चा फिर तेज हो गई है कि क्या वह अयोध्या से ही चुनाव लड़ेंगे? जहां भव्य राम मंदिर का निर्माण किया जा रहा है। जिसका श्रेय भाजपा की डबल इंजन सरकार ले रही है।

एबीपी न्यूज से बातचीत में यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि वह इस बार चुनाव लड़ेंगे यह तय है। लेकिन सीट का फैसला पार्टी नेतृत्व करेगा।

लेकिन कहा जा रहा है कि योगी के मन में अयोध्या है। अयोध्या के कई विधायकों, सांसदों और पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं की भी यही मांग है।

गोरखपुर के बाद योगी ने मुख्यमंत्री के तौर पर 5 साल में सबसे ज्यादा अगर किसी जगह का दौरा किया है तो वह अयोध्या है।

क्या अयोध्या से चुनाव लड़ेंगे योगी आदित्यनाथ?

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज अयोध्या में युवाओं को स्मार्ट फोन और टैबलेट देंगे। चुनाव आचार संहिता कभी भी लागू की जा सकती है। इसलिए योगी जाते समय अपनी अयोध्या को कुछ उपहार देना चाहते हैं।

उनका और उनके गोरखनाथ मंदिर का अयोध्या से पुराना नाता है। योगी के गुरु महंत अवैद्यनाथ और महंत दिग्विजय नाथ का भी पुराना नाता है, दोनों महंत राम मंदिर आंदोलन से जुड़े थे।

अब जब अयोध्या में राम मंदिर बन रहा है तो योगी यूपी के सीएम हैं। दो साल पहले जब 5 अगस्त को पीएम नरेंद्र मोदी ने मंदिर में भूमि पूजन किया था तब भी योगी उनके साथ थे।

अयोध्या से चुनाव लड़ने के क्या फायदे हैं?

योगी आदित्यनाथ के चुनाव लड़ने को लेकर बीजेपी संगठन की ओर से अयोध्या के पार्टी नेताओं से भी फीडबैक लिया गया है।

योगी के अयोध्या से चुनाव लड़ने से पार्टी एक तीर से कई निशाने साध सकती है। पूर्वांचल के लिए खुद पार्टी के पास वाराणसी से पीएम नरेंद्र मोदी हैं।

अगर योगी अयोध्या से किस्मत आजमाते हैं तो अवध क्षेत्र में पार्टी को मजबूती मिलेगी। इस बहाने गुस्साए ब्राह्मण समाज को अपना बनाना आसान हो जाएगा।

सबसे बड़ा फायदा यह है कि योगी के साथ अयोध्या का नाम जुड़ते ही हिंदुत्व की धार और मजबूत हो जाएगी। यह भाजपा के लिए ये तो सोने पे सुहागा जैसा होगा।

अयोध्या के जनप्रतिनिधि बनकर योगी पूरे देश में हिंदुत्व का माहौल बनाने में काम आएंगे।  वैसे बीजेपी के कुछ नेता योगी आदित्यनाथ से मथुरा से चुनाव लड़ने की मांग कर रहे हैं।

यह बात पार्टी के सांसद हरनाथ यादव को भगवान कृष्ण ने सपने में बताई थी। लेकिन कहा जा रहा है कि योगी की पहली पसंद अयोध्या है।