Vastu Tips : जानिए ऑफिस और घर में कछुआ रखने के फायदे

275
Vastu Tips: Know the benefits of keeping tortoise in office and home

सनातन धर्म में कछुओं का विशेष महत्व है। दशावतार कछुए में भगवान श्रीहरि विष्णु के अवतार हैं। शास्त्रों के अनुसार भगवान हरि विष्णु के दूसरे अवतार कछुआ है।

इस अवतार में भगवान हरि विष्णु ने समुद्र मंथन करते हुए मंदार पर्वत और वासुकी नाग की सहायता की थी। इस बीच, मंदार कछुआ को विष्णु पर्वत पर ढाल देता है।

इसके लिए भगवान श्री हरि विष्णु के दूसरे अवतार की पूजा की जाती है। साथ ही लोग अपने घरों में कछुआ रखते हैं। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार घर में कछुआ रखना बहुत ही शुभ होता है।

इससे घर में सुख-समृद्धि आती है। यह घर से नकारात्मक ऊर्जा को भी दूर करता है। फेंगशुई में कछुए को घर में रखने के फायदे भी बताए गए हैं, आइए जानते हैं।

जानकारों के अनुसार कछुआ को घर में रखने से घर में सुख, शांति और परेशानी आती है। कांच, लकड़ी या चांदी, क्रिस्टल से बना कछुआ घर में रखा जा सकता है।

वास्तु शास्त्र के अनुसार कछुए का मुंह हमेशा उत्तर दिशा की ओर होना चाहिए। इससे घर को लाभ होता है। साथ ही आप शत्रु पर विजय प्राप्त कर सकते हैं।

यदि आप परेशानी से गुजर रहे हैं तो कछुओं को घर के अंदर रखना सुनिश्चित करें। अगर घर में कोई लंबे समय से बीमार है।

इसलिए घर की दक्षिण-पूर्व दिशा में कछुए की तस्वीर लगाएं। घर में इस दिशा में कछुए की तस्वीर लगाने से भी कलह दूर होती है और घर में सुख-शांति का माहौल बनता है।

यदि आप रोजगार या व्यवसाय में प्रगति करना चाहते हैं तो आपको किसी भी कार्यालय या दुकान में कछुए की तस्वीर अवश्य देखनी चाहिए। ऐसा लगता है कि यह सभी बुरे कामों को ठीक करता है और व्यवसाय को लाभदायक बनाता है। धन का मार्ग खुला है।

एक बात का ध्यान रखें कि कछुए को दक्षिण-पूर्व दिशा में रखें। ऐसा लगता है कि सभी खराब चीजों को ठीक कर दिया गया है। घर के मुख्य द्वार पर कछुए की तस्वीर लगाना भी शुभ माना जाता है।

कछुआ को घर में कहां रखना चाहिए

  • वास्तु शास्त्र और फेंगशुई दोनों में महत्वपूर्ण, कछुए की सामग्री का भी उसके स्थान पर प्रभाव पड़ता है। उदाहरण के लिए, मिट्टी या टेराकोटा से बने कछुए को उत्तर-पूर्व, केंद्र या दक्षिण-पश्चिम दिशा में रखना चाहिए।
  • क्रिस्टल से बनी मूर्ति को उत्तर-पश्चिम या दक्षिण-पश्चिम में रखना चाहिए। लकड़ी से बने कछुए के लिए पूर्व या दक्षिण-पूर्व दिशा होती है और धातुओं से बने कछुए के लिए उत्तर और उत्तर-पश्चिम दिशा होती है।
  • घर में सकारात्मक ऊर्जा को स्थिर करने के लिए कछुए की आकृति को पिछवाड़े में रखा जा सकता है।
  • अपने घर को नकारात्मक ऊर्जा से बचाने के लिए प्रवेश द्वार पर कछुआ भी रखा जा सकता है।
  • धातु के कछुओं को हमेशा अपने पैरों को पानी में डुबो कर रखना चाहिए। किसी धातु के बर्तन या कटोरी में पानी भरकर उसमें कछुआ रख दें। इससे घर में सुख-समृद्धि आती है।
  • कछुए की मूर्ति को कृत्रिम जलप्रपात या फिश टैंक के पास रखना घर के लिए बहुत भाग्यशाली माना जाता है।
  • यदि आप कछुआ को बिस्तर के पास रखते हैं, तो यह आपको चिंता और अनिद्रा से निपटने में मदद करेगा। आप इसे अपने बच्चे के बिस्तर के पास रख सकते हैं, अगर उसे अकेले सोने से डर लगता है।
  • कछुआ को बाथरूम या किचन में न रखें।
  • घर में कभी भी टूटी-फूटी, टूटी-फूटी या टूटी-फूटी कछुआ मूर्तियाँ न रखें।
  • कछुआ को पूर्व, उत्तर या उत्तर-पश्चिम में रखना घर और करियर के लिए अच्छा माना जाता है।