What Is Bulli Bai : बुल्ली बाई और गिटहब क्या है? जहां मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरों के साथ प्राइस टैग होता है

649

What Is Bulli Bai : विवादास्पद ऐप पर बिना अनुमति के मुस्लिम महिलाओं की तस्वीर अपलोड की गई है। साथ ही तस्वीर के साथ प्राइस टैग लगा कर लिखा गया है- Deal of The Day यानी महिलाओं की नीलामी के लिए यह प्राइस टैग लगाया गया है। आखिर क्या है बुल्ली बाई और गिटहब हम आपको बताएंगे

सोशल मीडिया की दुनिया में बुल्ली बाई ऐप को जमकर ट्रोल किया जा रहा है। इस ऐप की लगातार आलोचना हो रही है। आरोप है कि इस ऐप पर मुस्लिम महिलाओं को लेकर अभद्र टिप्पणी की जा रही है।

उनकी तस्वीरें खंगाली जा रही हैं। तस्वीरों पर मिसोगिनिस्ट टेक्स्ट लिखे जा रहे हैं। अब ताजा मामला एक महिला पत्रकार का है जिसकी तस्वीरें आपत्तिजनक सामग्री के साथ शेयर की जा रही हैं।

What Is Bulli Bai : बुल्ली बाई का नाम सामने आने के बाद सोशल मीडिया और राजनीतिक गलियारों में हलचल तेज हो गई है. दरअसल एक विवादित ऐप पर बिना इजाजत मुस्लिम महिलाओं की तस्वीर अपलोड की गई है। 

इसके साथ ही तस्वीर के साथ प्राइस टैग लिखा है- डील ऑफ द डे। यानी यह प्राइस टैग महिलाओं की नीलामी के लिए लगाया गया है। यहां हम आपको बताएंगे कि बुल्ली बाई और गिटहब क्या है।

Journalist Of India

गिटहब क्या है? What is GitHub?

एक रिपोर्ट के मुताबिक GitHub एक ओपन सोर्स प्लेटफॉर्म है। यानी यूजर्स इसके जरिए ऐप्स बनाने और शेयर करने की परमिशन देते हैं। GitHub पर कोई भी व्यक्ति व्यक्तिगत या प्रशासनिक नाम से एक ऐप बना सकता है। साथ ही लोग अपने ऐप को GitHub पर बेच सकते हैं।

बुल्ली बाई क्या है? What is Bulli Bai?

बुली बाय GitHub नामक ओपन सोर्स प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध है। इसे ओपन करते ही सोशल मीडिया पर लोगों द्वारा बताई जा रही प्रक्रिया के बारे में बात करें। उनके सामने एक मुस्लिम महिला का चेहरा आता है।

इसका नाम बुल्ली बाई है। मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरें प्राइस टैग के साथ शेयर की गई हैं। इसके साथ ही बुल्ली बाई ट्विटर हैंडल से इसका प्रचार भी किया जा रहा है। ट्विटर हैंडल पर लिखा गया है कि इस ऐप के जरिए मुस्लिम महिलाओं को बुक किया जा सकता है।

सुल्ली डील Sulli Deals

पिछले साल जनवरी में, बुल्ली बाई के समान नाम वाला सुली डील्स ऐप भी विवादों में घिर गया था। इसे GitHub पर ही बनाया गया था। इस ऐप पर सोशल मीडिया से मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरें अपलोड की गईं।

बाद में विवाद के कारण तस्वीर को ऐप से हटा दिया गया था। बुल्ली बाई ऐप भी कुछ ऐसा ही है। जहां महिलाओं की तस्वीरें शेयर कर प्राइस टैग लगाया गया है।

क्या है पुरा मामला 

इस समय हैशटैग के तौर पर बुल्ली बाई का भी इस्तेमाल किया जा रहा है। इसे उन लोगों के नाम के साथ जोड़ा जा रहा है जिनकी तस्वीरें अपमानजनक टिप्पणियों के साथ शेयर की गई हैं।

अब क्योंकि उस पत्रकार के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ है ऐसे में उन्होंने एक ट्वीट कर अपनी आपत्ति दर्ज कराई है। उनकी ओर से पुलिस में शिकायत भी की गई है। पुलिस अभी भी मामले की जांच कर रही है।

लिखा है कि कितना दुख की बात है कि एक मुस्लिम महिला होने के नाते हमें अपने नए साल की शुरुआत डर के साथ करनी पड़ रही है।

मुझे यकीन है कि यह सिर्फ मुझे ही इस #sullideals द्वारा लक्षित नहीं किया जा रहा है। अब जानकारी के लिए बता दें कि बुल्ली बाई की तरह सुली डील भी एक ऐसा ऐप है, जहां मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरें शेयर की गई हैं। आपत्तिजनक बातें लिखकर उनकी तस्वीरों से निपटा गया है।

यह भी पता चला है कि Sully Deal और Bulli Bai ऐप दोनों को GitHub पर बनाया गया है। यह एक होस्टिंग प्लेटफॉर्म है जहां ओपन सोर्स कोड स्टोर किया जाता है।

लेकिन अब GitHub और इस पर बनाए जा रहे ऐसे ऐप्स को लेकर जबरदस्त आक्रोश है। जब से पत्रकार ने सोशल मीडिया पर इस मुद्दे को उठाया है, राजनीतिक गलियारों में चर्चा तेज हो गई है।

शिवसेना सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने कहा है कि उनकी तरफ से मुंबई डीसीपी से बातचीत हो चुकी है। उनकी तरफ से अपील की गई है कि इस मामले की तत्काल जांच की जाए।

एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने भी इस घटना को शर्मनाक बताया है। उनके मुताबिक जब तक इन आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई नहीं की जाती, यह सब ऐसे ही चलता रहेगा।

GitHub ऐप पर मचा बवाल

कुछ ऐसी तस्वीरें बुल्ली बाई नाम के GitHub ऐप पर शेयर की गई हैं, जिसने एक बार फिर विवाद खड़ा कर दिया है। दरअसल, GitHub ऐप पर बुली बाई नाम के एक अज्ञात समूह द्वारा मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरें और नीलामियां की जा रही हैं और उन्हें निशाना बनाया जा रहा है और परेशान किया जा रहा है।

शनिवार, 1 जनवरी, 2022 को बुली बाय नाम से ऐप पर तस्वीरें अपलोड की गई हैं। इस मामले की सूचना मिलते ही हरकत में आए दिल्ली पुलिस के अधिकारियों ने मामले का संज्ञान लेते हुए संबंधित अधिकारियों को कार्रवाई करने को कहा है.

मुंबई पुलिस कि कारवाई 

मुंबई पुलिस ने इस मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि उसने मामले का संज्ञान लिया है। संबंधित अधिकारियों को कार्रवाई के आदेश दे दिए गए हैं। वहीं, मुंबई साइबर पुलिस ने आपत्तिजनक सामग्री को लेकर जांच शुरू कर दी है।

एक सोशल मीडिया यूजर ने कहा है कि बुली बाय ऐप वैसे ही काम करता है जैसे सुली डील्स। आपको बता दें कि पिछले साल Sulli Deals नाम के ऐप पर कुछ ऐसी ही आपत्तिजनक सामग्री शेयर की गई थी।